यूक्रेन ने रूस के अल्प युद्धविराम प्रस्ताव को किया खारिज



डिजिटल डेस्क, कीव। यूक्रेन के राष्ट्रपति ब्लादिमिर जेलेंस्की ने रूस के अल्प क्रिसमस युद्धविराम प्रस्ताव को खारिज कर दिया है। यूक्रेन का कहना है कि यह मास्को द्वारा पूर्वी डोनबास क्षेत्र में यूक्रेनी अग्रिमों को रोकने और अधिक सैनिकों और उपकरणों को लाने के लिए एक बहाना है।

बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार गुरुवार की शाम को रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अपने रक्षा मंत्री को यूक्रेन की अग्रिम पंक्ति पर 36 घंटे का संघर्ष विराम लागू करने का आदेश दिया, जिसकी शुरुआत शुक्रवार को 12 बजे रूसी ऑर्थोडॉक्स क्रिसमस से हुई। रूसी ऑर्थोडॉक्स चर्च जूलियन कैलेंडर के अनुसार 7 जनवरी को क्रिसमस डे मनाता है।

एक बयान में क्रेमलिन ने कहा, (किरिल, रूसी रूढ़िवादी चर्च के संरक्षक) की अपील को ध्यान में रखते हुए राष्ट्रपति इसके द्वारा रूसी संघ के रक्षा मंत्री को निर्देश देते हैं कि वे 36 घंटे के लिए संघर्ष विराम लागू करें। आदेश में यूक्रेन से भी ऐसा ही करने को कहा गया, ताकि लोग शुक्रवार को क्रिसमस की पूर्व संध्या और शनिवार को क्रिसमस दिवस मना सकें।

लेकिन राष्ट्र के नाम अपने रात्रिकालीन संबोधन में जेलेंस्की ने कहा, अब वे थोड़े समय के लिए डोनबास में हमारे सैनिकों की प्रगति को रोकने के लिए क्रिसमस को एक आवरण के रूप में उपयोग करना चाहते हैं और उपकरण, गोला-बारूद और सैन्य टुकड़ियों को हमारे करीब लाना चाहते हैं।

उक्रेइंस्का प्रावदा की रिपोर्ट के अनुसार युद्धविराम की पेशकश का जवाब देते हुए, जेलेंस्की के सलाहकार माइखाइलो पोडोलियाक ने कहा कि एक अस्थायी युद्धविराम तभी शुरू हो सकता है जब रूस यूक्रेनी क्षेत्र को छोड़ देगा, ।

एक ट्वीट में उन्होंने कहा कि रूसी संघ को कब्जे वाले क्षेत्रों को छोड़ना चाहिए, तभी यह एक अस्थायी युद्धविराम शुरू करेगा। अपने पाखंड को अपने तक ही रखें। एक अन्य बयान में, सलाहकार ने पुतिन की पेशकश को सिर्फ एक प्रचार इशारा कहा। इससे ज्यादा कुछ नहीं।

उन्होंने कहा कि रूस युद्ध में मानवीय ²ष्टिकोण का प्रदर्शन करना चाहता है और यूरोपीय लोगों को यूक्रेन पर दबाव बनाने के लिए मनाने की कोशिश करता है। पोडोलियाक ने कहा, हमें रूसी नेतृत्व की जानबूझकर चालाकी की पहल का जवाब नहीं देना चाहिए। एक ट्वीट में यूक्रेन की राष्ट्रीय सुरक्षा और रक्षा परिषद के सचिव ओलेक्सी डेनिलोव ने कहा, हम उनके (रूस) के साथ किसी भी युद्धविराम पर बातचीत नहीं करेंगे। इसका हमसे कोई लेना-देना नहीं है।

 (आईएएनएस)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *