Rupee: डॉलर के मुकाबले रुपया कमजोरी के साथ 79.60 पर खुला, शुरुआती ट्रेड में 79.69 तक गिरा


Rupee Vs Dollar: विदेशी बाजारों में अमेरिकी डॉलर की मजबूती और घरेलू शेयर बाजारों में गिरावट के चलते रुपया आज शुरुआती कारोबार में डॉलर के मुकाबले 24 पैसे टूटकर 79.69 पर आ गया है. इंटरबैंक फॉरेन करेंसी एक्सचेंज मार्केट में रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 79.60 पर खुला है. इसमें 15 पैसे की गिरावट के साथ शुरुआत हुई थी क्योंकि कल रुपया 79.45 पर बंद हुआ था.

दिन के कारोबार में रुपया 79.69 तक नीचे गया
आज के कारोबार में आगे बढ़ने के साथ रुपया पिछले बंद भाव 79.45 के मुकाबले 24 पैसे की गिरावट दर्ज करते हुए 79.69 के भाव पर आ गया है और ऊपर में इसने 79.58 के लेवल दिखाए थे. रुपये में गिरावट के पीछे आज घरेलू शेयर बाजार में बिकवाली और विदेशी फंड्स की निकासी को कारण माना जा रहा है.

कल रुपये में दिखी थी जोरदार तेजी
रुपया बुधवार को 29 पैसे की तेजी के साथ डॉलर के मुकाबले 79.45 पर बंद हुआ था. कल की तेजी का कारण घरेलू शेयरों में भारी लिवाली और विदेशी पूंजी निवेशकों का लगातार निवेश जारी रहना था जिसके चलते निवेशकों का सेंटीमेंट और मजबूत हुआ. बाजार सूत्रों ने कहा कि इसके अलावा कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट और करेंसी दबाव के कम होने से भी रुपये को समर्थन मिला.

क्या कहते हैं जानकार
एचडीएफसी सिक्योरिटीज के रिसर्च एनालिस्ट दिलीप परमार ने कहा कि कच्चे तेल की कीमतों में नरमी और विदेशी फंडों का निवेश बढ़ने के बाद भारतीय रुपये को पर्याप्त सपोर्ट मिला है. हालांकि FOMC बैठक का ब्योरा सामने आने से पहले कारोबारी सतर्क हैं और आने वाले दिनों में कॉरपोरेट्स की डॉलर की बाजार से निकासी किये जाने की उम्मीद है जो रुपये में तेजी को सीमित कर सकता है.

डॉलर इंडेक्स की चाल, FII और क्रूड की तस्वीर
इस बीच छह प्रमुख करेंसी के मुकाबले अमेरिकी डॉलर की स्थिति को दिखाने वाला डॉलर इंडेक्स 0.06 फीसदी बढ़कर 106.64 पर आ गया है. ग्लोबल ऑयल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड वायदा 0.14 फीसदी बढ़कर 93.78 डॉलर प्रति बैरल के भाव पर आ गया है. शेयर बाजार के अस्थाई आंकड़ों के मुताबिक विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बुधवार को शुद्ध रूप से 2,347.22 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे हैं.

ये भी पढ़ें

Stock Market Opening: बाजार में गिरावट, सेंसेक्स फिसलने के बाद भी 60 हजार के ऊपर बरकरार, निफ्टी 17900 के नीचे

Fuel Demand: भारत में तेल की मांग दुनिया में सबसे तेज गति से बढ़ेगी, इस मामले में चीन-अमेरिका को छोड़ेगा पीछे



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.