PUBG के तर्ज पर चला गेम Battlegrounds Mobile India भी ब्लॉक, सरकार का IT कानून है वजह?


PUBG के तर्ज पर चला गेम Battlegrounds Mobile India भी ब्लॉक, सरकार का IT कानून है वजह?

PUBG की तर्ज पर चला गेम BGMI भी ऐप स्टोर से गायब.

नई दिल्ली:

बेटल-रोयाल फॉर्मेट के मोबाइल गेम PUBG को भारत में बैन हुए काफी वक्त हो चुका है. चीन की ओर से डेटा लीक के खतरे को देखते हुए कई चीनी ऐप्स को भारत में बैन किया गया था. पबजी की पब्लिशर कंपनी Tencent Games चीनी थी. इसके बाद पबजी के ही तर्ज पर नया गेम आया BGMI (Battlegrounds Mobile India). इसे भारत में साउथ कोरिया की डेवलपर कंपनी Krafton लेकर आई थी. अब इस गुरुवार को भारत में इस गेम को भी गूगल की पैरेंट कंपनी Alphabet Inc. ने बैन कर दिया है. अचानक से बिना किसी जानकारी या आशंका के यह गेम गुरुवार को गूगल प्ले स्टोर और ऐप स्टोर से गायब हो गया, जिसके बाद इसके कारणों पर चर्चा हो रही है.

यह भी पढ़ें

अगर रिपोर्ट्स की मानें तो BGMI को बैन करने के पीछे भी कुछ ऐसी ही वजहें हो सकती हैं. जानकारी है कि इस गेम को सरकार के नए आईटी कानूनों के तहत हटवाया गया है. रॉयटर्स की एक रिपोर्ट में सूत्रों के हवालों से कहा गया है कि सरकार ने आईटी कानूनों के प्रावधानों के तहत क्राफ्टन के गेम को हटाने को कहा है. रिपोर्ट में मामले की प्रत्यक्ष जानकारी रखने वाले सूत्र ने बताया कि सरकार ने इस मामले में भी उन्हीं प्रावधानों का हवाला दिया है, जिनका हवाला 2020 में चीनी ऐप्स को बैन करने के लिए दिया गया था.

बता दें कि भारत के आईटी कानून की 69A धारा के तहत सरकार को यह अधिकार है कि वो राष्ट्रीय सुरक्षा और अन्य कारणों के मद्देनजर कुछ कंटेंट का पब्लिक एक्सेस हटा ले. इस धारा के तहत दिए गए आदेश अमूमन गोपनीय रखे जाते हैं.

रॉयटर्स की ही एक रिपोर्ट के मुताबिक, गुरुवार को गूगल के प्रवक्ता की ओर से बयान आया था कि भारत सरकार के आदेश के बाद क्राफ्टन के गेम को ब्लॉक कर दिया गया है.

दक्षिण कोरियाई कंपनी क्राफ्टन ने पिछले साल जुलाई में लोकप्रिय मोबाइल गेम पबजी की जगह पर एक नया मोबाइल गेम बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया को भारत में पेश किया था. इसके लिए रजिस्ट्रेशन 18 मई, 2021 को शुरू हुआ था.

बता दें कि भारत सरकार ने सितंबर, 2020 में पबजी सहित 118 मोबाइल एप्लिकेशन को राष्ट्र की संप्रभुता, अखंडता और रक्षा के लिख खतरा बताते हुए ब्लॉक कर दिया था. इसके बाद क्राफ्टन की सहायक कंपनी पबजी कॉरपोरेशन ने कहा था कि चीन की टेन्सेंट गेम्स अब भारत में पबजी मोबाइल फ्रैंचाइज़ी को वितरित करने के लिए अधिकृत नहीं होगी. इसके बाद भारतीय बाजार के लिए एक नया गेम पेश करने की तैयारी शुरू कर दी गई थी.

Video : ‘क्रिप्टो स्टार्ट अप्स के जाने पर सरकार के पास जानकारी नहीं’ : मंत्रालय का संसद में जवाब



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.