Pawan singh: आखिर भोजपुरी सुपरस्टार पवन सिंह ने क्यों कहा, बदनामी मेरे कंधे पर लदी रहती है


pawan singh

Twitter @PawanSingh909

पवन सिंह को लेकर जो भी विवाद हुए हैं, उस पर पर उनसे सवाल पूछा गया। इस पर पवन सिंह ने साफ तौर पर कहा कि बदनामी को मेरा भाग्य कह लीजिए। मैं हमेशा काम खत्म करके ही घर जाता हूं। काम शुरू करने से पहले जिम जाता हूं।

लॉलीपॉप लागेलू से प्रसिद्धि हासिल करने वाले पवन सिंह भोजपुरी सिनेमा के सुपरस्टार हैं। जितना वे अपने गाने और फिल्मों के लिए सुर्खियों में रहते हैं, उतना ही व्यक्तिगत जिंदगी में उनको लेकर कॉन्ट्रोवर्सी भी रही है। अक्सर पवन सिंह किसी ना किसी कारण चर्चा में आ ही जाते हैं। हाल में ही एक्ट्रेस यामिनी सिंह ने भी उन पर कई बड़े आरोप लगा दिए थे। हालांकि, बाद में यामिनी सिंह अपने बयानों से पलट भी गई। हालांकि, पवन सिंह ने यामिनी सिंह द्वारा लगाए गए आरोपों के बीच एक बेबाक इंटरव्यू दिया है। उन्होंने अपने पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ के बारे में बात की। पवन सिंह ने साफ तौर पर कहा कि मेरा हमेशा से मानना रहा है कि काम करिए और उसी की चर्चा हो। दर्शक हमारे भगवान हैं और उनका आशीर्वाद मिलता रहना चाहिए।

पवन सिंह को लेकर जो भी विवाद हुए हैं, उस पर पर उनसे सवाल पूछा गया। इस पर पवन सिंह ने साफ तौर पर कहा कि बदनामी को मेरा भाग्य कह लीजिए। मैं हमेशा काम खत्म करके ही घर जाता हूं। काम शुरू करने से पहले जिम जाता हूं। मेरी कोशिश हमेशा यही रहती है कि बदनामी हटे पर वह हमेशा मेरे कंधे पर लदी रहती है। पवन सिंह की सफलता का राज क्या है? इस सवाल पर उन्होंने साफ तौर पर कहा कि यह सब जनता का प्यार है। आदमी कभी धन लेकर नहीं जाता। प्यार ही उसकी संपत्ति है और अच्छा काम करेंगे तो यह आपको हमेशा मिलता रहेगा। आपको बता दें कि पवन सिंह अपनी पत्नी से तलाक की खबर से भी चर्चा में थे।

पवन सिंह और भोजपुरी स्टार खेसारी लाल यादव के बीच खटपट की भी खबर आती रहती हैं। हालांकि, दर्शकों द्वारा पवन सिंह पर भरपूर प्यार लुटाया जाता है। पवन सिंह का कोई भी गाना यूट्यूब पर जबरदस्त तरीके से धमाल भी मजा आता है। भोजपुरी इंडस्ट्री में पवन सिंह का अपना दबदबा है। पवन सिंह के गानों का भी जबरदस्त क्रेज भी देखने को मिलता है। हालांकि, इन दिनों पवन सिंह लाइमलाइट से थोड़े दूर जरूर है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *