Parag Sanghvi Arrested: मशहूर फिल्ममेकर पराग सांघवी धोखाधड़ी केस में गिरफ्तार, जानिए क्या है पूरा मामला


मुंबई
मशहूर फिल्ममेकर पराग सांघवी (Filmmaker Parag Sanghvi) की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। चंद दिनों पहले प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लॉन्ड्रिंग केस में पराग सांघवी के कई ठिकानों पर छामेपारी की थी। वहीं अब मुंबई पुलिस ने पराग सांघवी को धोखाधड़ी के केस में गिरफ्तार किया गया है। 25 दिसंबर तक हिरासत में रखा जाएगा। आर्थिक अपराध शाखा में पराग के खिलाफ कुल 5 मामले दर्ज है उनमें से एक पुणे के मामले में पराग सांघवी को गिरफ्तार किया गया है।

क्या पूरा मामला?
पराग सांघवी अलंबरा ग्रुप (Alumbra Group CEO) के सीईओं हैं। अलंबरा कमला ग्रुप ऑफ़ कंपनीज़ की कंपनी एक सिस्टर कंपनी है। आरोप है कि कमला ग्रुप कंपनी ने लोगों से पैसे लिए और उस पैसे को अमलुब्रा, प्लेबॉय और दूसरी कंपनी में डायवर्ट कर दिया।

42 करोड़ रुपये डायवर्ट किए जाने की बात
कमला ग्रुप ऑफ कंपनीज से बाकी तीन कंपनियों में कुल 42 करोड़ रुपये डायवर्ट किए गए। पराग सांघवी प्लेबॉय और अलुम्ब्रा के डायरेक्टर हैं। कमला ग्रुप ऑफ कंपनीज के निदेशक जितेंद्र जैन पराग सांघवी के साथ प्लेबॉय और अलंगुरा कंपनी के निदेशक भी हैं।

पराग सांघवी पर क्या हैं आरोप?
कमला कृपा कंपनी के निदेशक जितेंद्र जैन को भी आर्थिक अपराध शाखा ने गिरफ्तार किया था, लेकिन चार साल जेल में रहने के बाद जमानत पर रिहा कर दिया गया था। आर्थिक अपराध शाखा ने पराग सांघवी को कथित तौर पर लोगों के पैसे के गबन और तीन अन्य कंपनियों में पैसा डायवर्ट करने के आरोप में गिरफ्तार किया है, जिसके निदेशक पराग सांघवी थे।

मुंबई के मामले में गिरफ्तार किए गए हैं सांघवी
आर्थिक अपराध शाखा के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया की बोलिवुड प्रोड्यूसर पराग सांघवी को गिरफ़्तार किया गया है। कमला मिल ग्रुप ऑफ कंपनी से जुड़े कई मामले दर्ज हुए थे। उसमें से एक मामले में सांघवी को गिरफ़्तार किया है। पुणे नहीं मुंबई के मामले में ही उन्हें अरेस्ट किया गया है।

कौन हैं पराग सांघवी?
पराग सांघवी पिछले 15 सालों से मनोरंजन जगत का हिस्सा हैं। पराग सांघवी, सरकार, पार्टनर, भूत रिटर्न्स, अब तक छप्पन, डरना मना है, गोलमाल-फन अनलिमिटेड और वास्तु शास्त्र जैसी फिल्मों का निर्माण कर चुके हैं।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *