Pakistan news: पाकिस्‍तानी गृहमंत्री का नाम लेकर इमरान के करीबी बड़बोले नेता शेख रशीद ने लाइव टीवी में थूका, वीडियो वायरल


इस्‍लामाबाद: पाकिस्‍तान के पूर्व गृह मंत्री शेख राशिद अब एक नई वजह से सोशल मीडिया पर छा गए हैं। राशिद का एक वीडियो ट्विटर पर वायरल हो रहा है। राशिद एक लाइव टीबी डिबेट में थे जब उन्‍होंने थूक दिया और वो फिर से खबरों में आ गए हैं। शेख राशिद टीवी चैनल पर वर्तमान गृहमंत्री राणा सनाउल्‍ला खान के बारे में बयान दे रहे थे। इस दौरान वो इतने आक्रामक हो गए कि उन्‍होंने बिना कुछ सोचे-समझे बहस में ही थूक दिया है। राणा सनाउल्‍ला ने पिछले दिनों बयान दिया था कि प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की सरकार, इमरान की पार्टी पाकिस्‍तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) को विदेशी फंड से संचालित पार्टी घोषित कर सकती है। साथ ही उन्‍होंने देश भर में पार्टी की तरफ से जारी विरोध प्रदर्शनों पर भी टिप्‍पणी की थी।

क्‍या था सारा मामला
एक लाइव चैनल पर शेख राशिद से सनाउल्‍ला के बारे में सवाल किया गया था। इसके जवाब में उन्‍होंने कहा, ‘मैं जनरल कमर बाजवा से कहना चाहूंगा कि वो राणा सनाउल्‍ला पर लगाम लगाएं। सेना का कोई बड़ा अधिकारी उन्‍हें सैल्‍यूट नहीं मारेगा बल्कि उन पर थूकेगा।’ शेख राशिद ने पिछले दिनों कहा था कि पाक में गठबंधन की सरकार की कोई इज्‍जत नहीं है। न तो वो देश में और न ही विदेशों में सम्‍मान हासिल कर पा रहे हैं। अपने इस बयान के साथ ही उन्‍होंने पूर्व पीएम नवाज शरीफ पर निशाना साधा जो इन दिनों लंदन में हैं। नवाज साल 2019 में इलाज के बहाने लंदन गए थे और तब से वो वहीं हैं।

शेख राशिद की मानें तो जनता तो क्‍या खुदा भी इस सरकार पर भरोसा नहीं करता है। इस सरकार की वजह से पूरा देश अंतरराष्‍ट्रीय समुदाय में मजाक का विषय बन गया है। पिछले दिनों पाकिस्‍तान के पंजाब प्रांत में हुए उपचुनावों में इमरान की पार्टी सबसे बड़ी विजेता बनकर उभरी है। नतीजों के बाद से ही इमरान और उनकी पार्टी लगातार जल्‍द चुनावों की मांग उठा रही है।
Pakistan News: ‘कमजोर हो रहा पाकिस्तान’, बाजवा पर भड़के इमरान बोले- आर्मी चीफ का काम मुल्क के लिए उधार मांगना नहींबुधवार को राणा सनाउल्‍ला ने कहा है कि सरकार पीटीआई के समर्थकों को चुनाव आयोग के ऑफिस बाहर प्रदर्शन नहीं करने देगी। उनका कहना था कि ये ऑफिस इस्‍लामाबाद के रेड जोन में आता है और इसलिए ही प्रदर्शन की इजाजत नहीं है। उनका कहना था कि पीटीआई उपचुनावों के बाद से ही देश में जल्‍द चुनावों के लिए कोशिशें कर रही है। इसके लिए वो आयोग पर दबाव डालने की राजनीति कर रही है जिसे पूरी तरह से असफल कर दिया जाएगा।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.