Nomad क्रॉस-चेन ब्रिज को हैक अटैक में 20 करोड़ डॉलर का नुकसान


Nomad क्रॉस-चेन ब्रिज को हैक अटैक में 20 करोड़ डॉलर का नुकसान

क्रिप्टो सेगमेंट से जुड़े हैकिंग के मामले बढ़ रहे हैं

खास बातें

  • Nomad ने इस बारे में कोई स्टेटमेंट नहीं दिया है
  • इसने एक ट्वीट में कहा है कि उसे इस मामले की जानकारी है
  • क्रिप्टो सेगमेंट की फर्मों के नेटवर्क में सेंध लगने के मामले बढ़ रहे हैं

पिछले कुछ महीनों में क्रिप्टो सेगमेंट पर हैकर्स के अटैक में तेजी आई है. क्रॉस-चेन ब्रिज Nomad को ऐसे ही एक अटैक में लगभग 20 करोड़ डॉलर का नुकसान हुआ है. इस प्लेटफॉर्म पर यूजर्स को विभिन्न ब्लॉकचेन्स के बीच क्रिप्टोकरेंसीज को भेजने और प्राप्त करने की सुविधा मिलती है. ऐसे क्रॉस-चेन ब्रिज में आमतौर पर एक चेन पर टोकन्स को एक स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट में लॉक किया जाता है और अन्य चेन पर ये टोकन्स रैप्ड तरीके से दोबारा इश्यू होते हैं.

इस हैक अटैक के बारे में Paradigm के रिसर्चर Sam Sun ने बताया कि Nomad स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट ने यूजर्स को ऐसी ट्रांजैक्शंस से फंड को विड्रॉ करने का विकल्प दिया था, जो वास्तव में उनका नहीं था. यह इस हैक अटैक का एक बड़ा कारण बना है. Sam ने ट्विटर पर बताया, “इस ब्रिज पर यूजर्स को केवल ऐसी ट्रांजैक्शन खोजनी होती थी जिसे एक्टिवेट किया जा सकता है. इसके बाद एक अन्य व्यक्ति के एड्रेस को अपने एड्रेस के साथ बदलना था और फिर इसे दोबारा ब्रॉडकास्ट किया जाता था.” Nomad ने इस बारे में कोई स्टेटमेंट नहीं दिया है. इसने एक ट्वीट में यह कहा है कि उसे इस मामले की जानकारी है.

हाल ही में ब्लॉकचेन Solana पर बेस्ड Crema Finance को ऐसे ही एक अटैक में 87.8 लाख डॉलर की क्रिप्टोकरेंसीज का नुकसान हुआ है. हैकर्स ने एक स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट का इस्तेमाल लोन देने और लिक्विडिटी को वैलिडेट करने के लिए किया था. हालांकि, फर्म ने बाद में और नुकसान से बचने के लिए स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट को रद्द कर दिया था.

Crema Finance ने बताया था, “हम तकनीकी कमियों को दूर कर रहे हैं. इसके साथ ही चोरी हुए फंड का पता लगाया जा रहा है. जांच पूरी होने के बाद कॉन्ट्रैक्ट को बहाल किया जाएगा.” इस मामले की जांच के लिए फर्म ने कुछ सिक्योरिटी एजेंसियों की मदद ली है. फर्म की शुरुआत इस वर्ष हुई थी. यह लिक्विडिटी प्रोवाइडर्स को विशेष प्राइस रेंज तय करने और Solana पर रेंज ऑर्डर ट्रेडिंग करने का विकल्प देती है. Chainalysis ने एक ब्लॉग पोस्ट में बताया था कि हैकर्स ने पिछले वर्ष 251 अटैक्स में लगभग 3 अरब डॉलर की चोरी की थी और नुकसान पहुंचाया था.

यह भी पढ़ें



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.