New Zealand Qualify For SF: भारत की उम्मीदें ध्वस्त, अफगानिस्तान को हरा सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड


अबू धाबी
न्यूजीलैंड के खिलाफ अफगानिस्तान को टी-20 वर्ल्ड कप-2021 के सुपर-12 के एक मैच में 8 विकेट से हार मिली है और इसके साथ ही भारत की सेमीफाइनल में पहुंचने की उम्मीदों ने भी दम तोड़ दिया है।

केन विलियम्सन की कप्तानी वाली कीवी टीम ने अफगानिस्तान को पहले 124 रनों पर रोका। इसके बाद उसने 18.1 ओवरों में 2 विकेट खोकर 125 रन बनाते हुए आसानी से मैच अपने नाम कर सेमीफाइनल का टिकट कटा लिया। इसके साथ ही टी-20 वर्ल्ड कप की चारों सेमीफाइनल टीमों का नाम तय हो गया है।

ग्रुप-1 से इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया ने क्वॉलिफाइ किया है, जबकि ग्रुप-2 से पाकिस्तान और न्यूजीलैंड सेमीफाइनल में पहुंची हैं। भारतीय टीम को अपने शुरुआती दो मैचों में पाकिस्तान और न्यूजीलैंड से हार मिली थी। इसके बाद उसने अफगानिस्तान और स्कॉटलैंड के खिलाफ बड़ी जीत दर्ज करते हुए वापसी की, लेकिन अब उसका नामीबिया के खिलाफ मैच सिर्फ औपचारिकता भर ही है।

दरअसल, भारत को सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए जरूरी था कि अफगानिस्तान न्यूजीलैंड को हराता। ऐसे में अफगानिस्तान और न्यूजीलैंड के 6-6 अंक होते। भारत अपने आखिरी लीग मैच में नामीबिया के खिलाफ जीत दर्ज करते हुए नेट रन रेट के हिसाब से सेमीफाइनल के लिए क्वॉलिफाइ करता, लेकिन यहां न्यूजीलैंड ने मैच जीतते हुए 8 अंकों के साथ सीधे सेमीफाइनल में पहुंचने में कामयाबी हासिल की।

मैच की बात करें तो बाएं हाथ के बल्लेबाज नजीबुल्लाह जादरान के आकर्षक अर्धशतक के बावजूद अफगानिस्तान ने ट्रेंट बोल्ट और टिम साउदी की घातक गेंदबाजी के सामने न्यूजीलैंड के खिलाफ आईसीसी टी20 विश्व कप के सुपर 12 के ग्रुप दो मैच में रविवार को यहां आठ विकेट पर 124 रन बनाये। अफगानिस्तान ने हालांकि तीन विकेट 19 रन पर गंवा दिये जिसका प्रभाव उसकी पूरी पारी पर दिखा। उसके केवल तीन बल्लेबाज दोहरे अंक में पहुंचे जिनमें नजीबुल्लाह ने 48 गेंदों पर 73 रन बनाये जिसमें छह चौके और तीन छक्के शामिल हैं।

न्यूजीलैंड की तरफ से बोल्ट ने 17 रन देकर तीन विकेट और साउदी ने 24 रन देकर दो विकेट लिये। ईश सोढी, जेम्स नीशाम और एडम मिल्ने को एक एक विकेट मिला। अफगानिस्तान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया लेकिन उसकी शुरुआत अच्छी नहीं रही। वह पावरप्ले में केवल 23 रन बना पाया और इस बीच उसने मोहम्मद शहजाद (चार), हरतुल्लाह जजई (दो) और रहमनुल्लाह गुरबाज (छह) के विकेट गंवाये।

नजीबुल्लाह ने नौवें ओवर में नीशाम पर दो चौके जड़कर स्कोर को कुछ गति दी और फिर सोढ़ी की गेंद मिडविकेट पर चार रन के लिये भेजकर टीम का स्कोर 50 रन के पार पहुंचाया। सोढ़ी हालांकि इस ओवर में गुलबदीन नैब (15) को बोल्ड करने में सफल रहे। इसके बाद भी रन बनाने का मुख्य जिम्मा नजीबुल्लाह ने ही उठाये रखा। उन्होंने मिशेल सैंटनर के एक ओवर में दो छक्के लगाये और फिर 33 गेंदों पर अपने करियर का छठा अर्धशतक पूरा किया।

दूसरे छोर से कप्तान मोहम्मद नबी (20 गेंदों पर 14) रन बनाने के लिये जूझते रहे। टिम साउदी ने अपनी ही गेंद पर खूबसूरत कैच लेकर नबी की संघर्षपूर्ण पारी का अंत किया। नजीबुल्लाह और नबी ने पांचवें विकेट के लिये 59 रन की साझेदारी की। नजीबुल्लाह 19वें ओवर में पवेलियन लौटे। इसका श्रेय नीशाम को जाता है जिन्होंने बोल्ट की गेंद पर डाइव लगाकर शानदार कैच लिया। बोल्ट ने इसी ओवर में करीम जनत (दो) को भी पवेलियन भेजा।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *