Monsoon Health Tips: बरसात के मौसम में रहना है बीमारियों से दूर तो पिएँ सूप, यहाँ पढ़ें रेसिपी


सूप में ताजी मौसमी सब्जियां होती हैं, जो शरीर में पोषक तत्वों की आपूर्ति करने के लिए फायदेमंद है। आजकल बाजार में कई ब्रांड्स के सूप उपलब्ध हैं लेकिन इनमें शुगर की मात्रा काफी अधिक होती है। ऐसे में आप घर पर ही पौष्टिक सूप बना सकते हैं।

बारिश के दिनों में हमारी इम्यूनिटी कमजोर हो जाती है, जिसकी वजह से संक्रमण होने का खतरा अधिक होता है। ऐसे में अच्छा महसूस करने के लिए और शरीर को गर्माहट देने के लिए सूप एक अच्छा ऑप्शन है। सूप से आपके शरीर को आवश्यक पोषण भी मिलेगा और वजन कम करने में भी मदद मिलेगी। सूप में ताजी मौसमी सब्जियां होती हैं, जो शरीर में पोषक तत्वों की आपूर्ति करने के लिए फायदेमंद है। आजकल बाजार में कई ब्रांड्स के सूप उपलब्ध हैं लेकिन इनमें शुगर की मात्रा काफी अधिक होती है। ऐसे में आप घर पर ही पौष्टिक सूप बना सकते हैं। सबसे खास बात यह है कि यह बनाने में बहुत आसान है और यह बहुत हेल्दी भी है।

कैसे बनाएं सूप 

सूप बनाने के लिए आपको मौसमी सब्जियां को पानी में उबालना है। इसके पोषण को बढ़ाने के लिए आप पनीर या टोफू मिलाएं। सूप का स्वाद बढ़ाने के लिए आप अपनी पसंद के मसाले डाल सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: त्वचा से लेकर दिल तक के लिए फायदेमंद है कच्चा बादाम, इसके फायदे जानकर चौंक जाएंगे आप

मानसून में सूप पीने के फायदे  

ग्लूकोज लेवल अचानक नहीं बढ़ता 

सूप पीने से ग्लूकोज का लेवल अचानक नहीं बढ़ता है। बारिश के मौसम में सलाद या कच्ची सब्जियां खाने से परहेज करना चाहिए। ऐसे में आप सूप में ढेर सारी सब्जियां डाल सकते हैं। इससे आप ग्लूकोज स्पाइक्स से बचेंगे।

शरीर में पानी की कमी नहीं होती 

बारिश के मौसम में हम आमतौर पर कम पानी पीते हैं, जिससे शरीर में पानी की कमी हो सकती है। ऐसे में सूप पीने से शरीर में पानी की कमी नहीं होती है।

इसे भी पढ़ें: सिर्फ खरबूज ही नहीं, इसके बीज भी होते हैं बहुत फायदेमंद, कई समस्याओं में है रामबाण इलाज

संक्रमण से बचाव 

मानसून में हम संक्रमण की चपेट जल्दी आ जाए हैं। ऐसे में बीमार होने आप सूप पीना बहुत अच्छा विकल्प है। आप सूप में अदरक और काली मिर्च जैसे मसाले भी डाल सकते हैं, जिससे शरीर को पोषण मिलता है। यह व्हाइट ब्लड सेल्स के लिए भी अच्छा होता है।

वजन कम करने में मदद मिलती है 

सूप में ढेर सारी सब्जियों का इस्तेमाल होता है, जिससे शरीर को फाइबर मिलता है। इससे भूख कम लगती है और वजन कम करने में भी मदद मिलती है। इसके साथ ही यह हेल्दी होता है।

– प्रिया मिश्रा

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.