ICC ने वेस्टइंडीज के पूर्व खिलाड़ी मर्लोन सैमुअल्स पर एंटी करप्शन कोड के उल्लंघन का आरोप लगाया


वेस्टंडीज के क्रिकेट खिलाड़ी मर्लोन सैमुअल्स | ANI


Text Size:

दुबई: अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने बुधवार को वेस्टइंडीज के पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी मर्लोन सैमुअल्स पर एक टी10 लीग के दौरान भ्रष्टाचार निरोधक संहिता की चार धाराओं का उल्लंघन करने का आरोप लगाया जिसमें आतिथ्य सेवाओं का खुलासा नहीं करना शामिल था.

आईसीसी ने टी10 लीग के आयोजक अमीरात क्रिकेट बोर्ड की ओर से आरोप लगाये. आईसीसी ने एक विज्ञप्ति में कहा, ‘सैमुअल्स को आरोपों का जवाब देने के लिये 14 दिन का समय दिया जायेगा.’

वेस्टइंडीज के लिये 71 टेस्ट, 207 वनडे और 67 टी20 मैच खेल चुके सैमुअल्स ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 11134 रन बनाये हैं और 152 विकेट लिये हैं. उन्होंने नवंबर 2020 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा.

आईसीसी के अनुसार उन्होंने संहिता की धारा 2 . 4 . 2, 2 . 4 . 3 , 2 . 4 . 6 और 2 . 4 . 7 का उल्लंघन किया है.

ये किसी तोहफे, भुगतान, आतिथ्य या अन्य फायदों की जानकारी भ्रष्टाचार निरोधक अधिकारियों को नहीं देने के संदर्भ में है जिससे खेल की छवि को ठेस पहुंची हो. इसके साथ ही ये धारायें जांच में सहयोग नहीं करने, जानकारी छिपाकर जांच में बाधा पहुंचाने या विलंब करने को लेकर भी हैं.

टी10 लीग का चौथा सत्र जनवरी फरवरी में अबुधाबी में खेला गया था. सैमुअल्स कर्नाटक टस्कर्स टीम का हिस्सा थे जिसके कप्तान हाशिम अमला थे.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

क्यों न्यूज़ मीडिया संकट में है और कैसे आप इसे संभाल सकते हैं

आप ये इसलिए पढ़ रहे हैं क्योंकि आप अच्छी, समझदार और निष्पक्ष पत्रकारिता की कद्र करते हैं. इस विश्वास के लिए हमारा शुक्रिया.

आप ये भी जानते हैं कि न्यूज़ मीडिया के सामने एक अभूतपूर्व संकट आ खड़ा हुआ है. आप मीडिया में भारी सैलेरी कट और छटनी की खबरों से भी वाकिफ होंगे. मीडिया के चरमराने के पीछे कई कारण हैं. पर एक बड़ा कारण ये है कि अच्छे पाठक बढ़िया पत्रकारिता की ठीक कीमत नहीं समझ रहे हैं.

हमारे न्यूज़ रूम में योग्य रिपोर्टरों की कमी नहीं है. देश की एक सबसे अच्छी एडिटिंग और फैक्ट चैकिंग टीम हमारे पास है, साथ ही नामचीन न्यूज़ फोटोग्राफर और वीडियो पत्रकारों की टीम है. हमारी कोशिश है कि हम भारत के सबसे उम्दा न्यूज़ प्लेटफॉर्म बनाएं. हम इस कोशिश में पुरज़ोर लगे हैं.

दिप्रिंट अच्छे पत्रकारों में विश्वास करता है. उनकी मेहनत का सही वेतन देता है. और आपने देखा होगा कि हम अपने पत्रकारों को कहानी तक पहुंचाने में जितना बन पड़े खर्च करने से नहीं हिचकते. इस सब पर बड़ा खर्च आता है. हमारे लिए इस अच्छी क्वॉलिटी की पत्रकारिता को जारी रखने का एक ही ज़रिया है– आप जैसे प्रबुद्ध पाठक इसे पढ़ने के लिए थोड़ा सा दिल खोलें और मामूली सा बटुआ भी.

अगर आपको लगता है कि एक निष्पक्ष, स्वतंत्र, साहसी और सवाल पूछती पत्रकारिता के लिए हम आपके सहयोग के हकदार हैं तो नीचे दिए गए लिंक को क्लिक करें. आपका प्यार दिप्रिंट के भविष्य को तय करेगा.

शेखर गुप्ता

संस्थापक और एडिटर-इन-चीफ

अभी सब्सक्राइब करें