FIFA World Cup 2022 : ब्राजील के खिलाफ कैमरून को जीत और किसमत के साथ की जरूरत


फीफा विश्व कप में ब्राजील की टीम अपने आखिरी मैच में कैमरून के खिलाफ मैदान में उतरेगी। इस मैच में सभी रिजर्व खिलाड़ियों को टीम आजमाएगी। कैमरून की टीम को टूर्नामेंट के प्री-क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने के लिए इस मैच में जीत के साथ किस्मत की साथ की भी जरूरत होगी।

दोहा। फीफा विश्व कप में शुरुआती दोनों मैचों को जीतने वाली ब्राजील की टीम शुक्रवार देर रात को जब ग्रुप जी के अपने आखिरी मैच में कैमरून के खिलाफ मैदान में उतरेगी तो उसके  कोच टिटे सभी रिजर्व खिलाड़ियों को आजमायेंगे। वही दूसरी ओर दो मैचों में एक हार और ड्रॉ का नजीता हासिल करने वाली कैमरून की टीम को टूर्नामेंट के प्री-क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने के लिए इस मैच में जीत के साथ किस्मत की साथ की भी जरूरत होगी।

इस ग्रुप में ब्राजील के छह अंक हैं जबकि स्विट्जरलैंड के नाम तीन और कैमरून तथा सर्बिया के एक-एक अंक है। ब्राजील की टीम नॉकआउट चरण के लिए क्वालीफाई कर चुकी है और कोच टिटे अब तब बेंच पर बैठे खिलाड़ियों को इस मुकाबले में परखना चाहेंगे। स्टार फॉरवर्ड नेमार, राइट बैक डैनिलो और लेफ्ट बैक एलेक्स सैंड्रो चोटों के कारण उपलब्ध नहीं होंगे। नेमार अभी भी अपने दाहिने टखने की चोट का इलाज कर रहे थे और यह स्पष्ट नहीं था कि वह कब वापसी करेंगे।

टिटे ने इस मैच के लिए सभी रिजर्व खिलाड़ियों का उपयोग करने की योजना बनायी है, जिसकी शुरुआत गोलकीपिंग में एलिसन की जगह एंडरसन से होगी। टीम की रक्षा पंक्ति में अनुभवी दानी अल्वेस को जगह मिलेगी जबकि फैबिन्हो मिडफील्ड में खेलने के लिए तैयार है। एंटनी और गेब्रियल मार्टिनेली के अग्रिम पंक्ति में होने की उम्मीद है। टिटे उन सभी सात खिलाड़ियों को मैदान पर उतारना चाहते है जो अभी तक टूर्नामेंट में शामिल नहीं हुए थे। मिडफील्डर फैबिन्हो ने कहा कि स्विट्जरलैंड के खिलाफ मैच के बाद टिटे ने हमें पहले ही बता दिया था कि वह लाइनअप में बदलाव करना चाहते हैं। वह चाहते हैं कि हर किसी को खेलने का मौका मिले और हम उस फैसले से खुश हैं।

टिटे यह बदलाव इसलिए भी कर रहे क्योंकि ब्राजील को इस मैच के बाद सोमवार को प्री-क्वार्टर फाइनल मैच खेलना है और वह मुख्य खिलाड़ियों को अहम मैच से पहले तरोताजा रखना चाहते है। 39 वर्षीय अल्वेस विश्व कप में खेलने वाले ब्राजील के सबसे उम्रदराज खिलाड़ी बन सकते है। वह कतर में ब्राजील के कप्तान 38 वर्षीय थियागो सिल्वा को पीछे छोड़ेंगे। विश्व कप में अल्वेस का आखिरी मैच ब्राजील में 2014 के टूर्नामेंट के अंतिम-16 के दौर में था। वह चोट के कारण 2018 में रूस में हुए विश्व कप में नहीं जा सके थे।

कैमरून की टीम 1990 के बाद पहली बार ग्रुप चरण की बाधा को पार करना चाहेगी। टीम हालांकि विवादों में भी रही जब गोलकीपर आंद्रे ओनाना को कोच रिगोबर्टा सोंग के साथ हुए मतभेद के बाद अनुशासनात्मक कारणों से फीफा विश्व कप से स्वदेश भेज दिया गया। कैमरून फुटबॉल महासंघ ने मंगलवार को एक बयान में कहा कि इंटर मिलान के गोलकीपर को टीम से अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया और यह निलंबन कतर में पूरे टूर्नामेंट के दौरान जारी रहेगा।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *