Badminton World Championships: प्रणय ने दर्ज की सनसनीखेज जीत, लक्ष्य प्री-क्वार्टर में पहुंचे लेकिन श्रीकांत का सफर हुआ खत्म


Lakshya Sen, HS Prannoy- India TV Hindi News
Image Source : AP, GETTY
Lakshya Sen, HS Prannoy

Highlights

  • वर्ल्ड चैंपियनशिप में भारतीय शटलर्स का शानदार प्रदर्शन
  • लक्ष्य सेन और एचएस प्रणय प्री-क्वार्टर में पहुंचे
  • किदाम्बी श्रीकांत दूसरे दौर में हारकर हुए बाहर

Badminton World Championships: वर्ल्ड चैंपियनशिप्स के मेंस सिंगल्स में भारतीय शटलर्स का शानदार फॉर्म लगातार जारी है। कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के गोल्ड मेडलिस्ट लक्ष्य सेन के साथ एचएस प्रणय भी कदमताल मिला रहे हैं। प्रणय ने राउंड ऑफ 32 में सेकेंड सीड शटलर केंटो मोमोटो को सीधे गेम में हराकर सनसनीखेज जीत दर्ज की। वहीं कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 चैंपियन लक्ष्य सेन ने वर्ल्ड चैंपियनशिप के मेंस सिंगल्स प्री क्वार्टरफाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली।

प्रणय ने दर्ज की सनसनीखेज जीत

अनसीडेड इंडियन शटलर प्रणय ने दो बार के पूर्व विश्व चैंपियन मोमोटा के खिलाफ उम्मीदों से बढ़कर प्रदर्शन किया। हालांकि मुकाबले के दौरान मोमोटा दर्शकों के फेवरेट थे, उन्हें खूब चीयर भी किया जा रहा था पर भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी ने उन्हें टिकने नहीं दिया। प्रणय ने मोमोटा को दूसरे दौर के मुकाबले में 21-17, 21-6 से पराजित किया। यह प्रणय की मोमोटा पर आठ मैचों में पहली जीत है। पिछली भिड़ंत में भारतीय खिलाड़ी अपने से ऊंची रैंकिंग के जापानी प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ केवल एक गेम ही जीत सके थे।

प्री-क्वार्टरफाइनल में पहुंचे लक्ष्य सेन

प्रणय के मुकाबले से पहले लक्ष्य सेन ने स्पेन के लुईस पेनावेर पर 72 मिनट में 21-17, 21-10 से जीत दर्ज की। हालांकि पहले गेम में एक समय सेन 3-4 से पिछड़ रहे थे लेकिन इसके बाद नौवीं वरीयता प्राप्त सेन ने शानदार वापसी करते हुए छह अंक लेकर 13-7 की बढत बना ली। उन्होंने इस लय को जारी रखकर पहला गेम जीता। वर्ल्ड चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज मेडल जीत चुके सेन ने दूसरे गेम में भी अपने विरोधी शटलर को वापसी का कोई मौका नहीं दिया। प्रणय और सेन गुरूवार को अंतिम 16 के मुकाबले में एक दूसरे से भिड़ेंगे।

किदाम्बी श्रीकांत का सफर हुआ खत्म

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के ब्रॉन्ड मेडलिस्ट किदाम्बी श्रीकांत को दूसरे राउंड में शिकस्त का सामना करना पड़ा।उन्हें दुनिया के 32वें नंबर के खिलाड़ी झाओ पेंग ने 21-18, 21-17 से मात दी। महज 34 मिनट तक चले मुकाबले में श्रीकांत बिल्कुल भी लय में नहीं दिखे। पहले गेम के पेंग ने सिर्फ 12 मिनट में अपने नाम कर लिया । दूसरे गेम में एक समय श्रीकांत 16-14 से आगे थे पर लगातार हो रही अनफोर्स्ड एरर का खामियाजा उन्हें उठाना पड़ा।

इससे पहले एम आर अर्जुन और ध्रुव कपिला मेंस डबल्स के प्री-क्वार्टर फाइनल में पहुंच गए लेकिन वुमेंस डबल्स में अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी को शिकस्त का सामना करना पड़ा।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.