Amidst the outbreak of Covid, 1.3 crore people in the Chinese city have been ordered to stay at home. | शिआन में 1.3 करोड़ लोगों को दिया गया घर पर ही रहने का आदेश – Bhaskar Hindi



डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कोविड-19 के प्रकोप के बीच अधिकारियों की ओर से चीनी शहर शिआन में 1.3 करोड़ से अधिक लोगों को घर पर ही रहने का आदेश दिया गया है। बीबीसी की एक हालिया रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। उत्तरी शहर में 9 दिसंबर से अब तक 143 संक्रमण के मामले दर्ज किए गए हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि बुधवार को घोषित नए प्रतिबंधों के तहत, प्रति परिवार केवल एक व्यक्ति को आवश्यक सामान खरीदने के लिए हर दो दिन में घर छोड़ने की अनुमति है।

प्रकोप को रोकने के लिए बड़े पैमाने पर परीक्षण और लॉकडाउन का उपयोग करते हुए, चीन ने एक सख्त शून्य-कोविड रणनीति अपनाई हुई है। देश कोविड के लिए हाई अलर्ट पर है, क्योंकि यह फरवरी में 2022 शीतकालीन ओलंपिक की मेजबानी करने के लिए तैयार है। रिपोर्ट में कहा गया है कि टेराकोटा योद्धाओं के लिए जाने जाने वाले शिआन के निवासियों को तब तक शहर छोड़ने की अनुमति नहीं है, जब तक कि उन्हें ऐसा करने के लिए अधिकारियों से अनुमति नहीं मिल जाती। प्रतिबंध स्थानीय समयानुसार गुरुवार की आधी रात से लागू हो गया है।

शानक्सी प्रांत में लाखों परीक्षण किए गए हैं, जहां शिआन स्थित है। लंबी दूरी के लिए बस स्टेशन पहले ही बंद हो चुके हैं और शहर में मोटरमार्गों पर चौकियां लगा दी गई हैं। शियान के हवाई अड्डे से बड़ी संख्या में उड़ानें रद्द कर दी गई हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि गैर-जरूरी व्यवसाय बंद हो गए हैं और स्थानीय सरकारी कर्मचारियों को घर से काम करने के लिए कहा गया है। देश के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स के अनुसार, पिछले सप्ताहांत अधिकारियों ने पहले ही एहतियात के तौर पर बार, जिम और सिनेमा जैसी इनडोर सुविधाओं को बंद कर दिया था।

अधिकारियों का कहना है कि प्रकोप कोविड के डेल्टा वैरिएंट से संबंधित है और इसमें नए वैरिएंट ओमिक्रॉन का उल्लेख नहीं किया गया है। सरकारी मीडिया ने इस सप्ताह अपनी रिपोर्ट में बताया है कि शिआन एक दोहरी महामारी का सामना कर रहा है क्योंकि गंभीर रूप से बुखार के कई मामले सामने आए हैं। यहां देश के अन्य हिस्सों के मुकाबले मृत्यु दर भी उच्च स्तर पर दर्ज की गई है। यही वजह है कि सरकार यहां पर कोविड के पर्याप्त इंतजाम और प्रतिबंधों को सुनिश्चित करना चाहती है।

(आईएएनएस)



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *