Aaj Ka Panchang 7 May 2022: 7 मई का पंचांग, जानिए राहु काल और शुभ-अशुभ समय


Aaj Ka Panchang 7 May 2022: 7 मई का पंचांग, जानिए राहु काल और शुभ-अशुभ समय

Aaj Ka Panchang 7 May 2022: पुनर्वसु नक्षत्र दोपहर 12 बजकर 18 मिनट तक है. जानिए आज का पंचांग.

खास बातें

  • सूर्योदय 5 बजकर 36 मिनट पर है.
  • राहु काल में नहीं किए जाते हैं शुभ कार्य.
  • जानिए 7 मई 2022 का पंचांग.

Aaj Ka Panchang 7 May 2022: हिंदी पंचांग (Panchang Today) के अनुसार आज यानी 07 मई, वैशाख शुक्ल पक्ष (Vaishakh Shukla Paksha) की षष्ठी तिथि है. षष्ठी तिथि दोपहर 2 बजकर 56 मिनट तक है. इसके बाद सप्तमी तिथि लग जाएगी. सूर्योदय 5 बजकर 36 मिनट पर है. सूर्यास्त का समय शाम 7 बजे है. पुनर्वसु नक्षत्र (Punarvasu Nakshatra) दोपहर 12 बजकर 18 मिनट तक है. इसके बाद पुष्य नक्षत्र (Pushya) लग जाएगा. राहुकाल (Rahu Kaal) सुबह 08 बजकर 57 मिनट से 10 बजकर 37 मिनट तक है. पंचांग (Aaj Ka Panchang) के मुताबिक जानते हैं 07 मई के शुभ-अशुभ मुहूर्त (7 May 2022 Panchang) के बारे में. 

यह भी पढ़ें

07 मई अप्रैल 2022 का पंचांग, शुभ मुहूर्त  (07 May 2022 Panchang Shubh Muhurat) 

  • ब्रह्म मुहूर्त-  04:11 ए एम से 04:53 ए एम
  • अभिजित मुहूर्त- 11:51 ए एम से 12:45 पी एम
  • गोधूलि मुहूर्त- 06:46 पी एम से 07:10 पी एम
  • अमृत काल- 09:36 ए एम से 11:24 ए एम
  • रवि योग- 05:36 ए एम से 12:18 पी एम

अशुभ समय (Ashubh Muhurat)

  1. राहु काल- सुबह 08 बजकर 57 मिनट से दोपहर 10 बजकर 37 मिनट तक 
  2. दुर्मुहूर्त- सुबह 05 बजकर 36 मिनट से 06 बजकर 29 मिनट तक 
  3. गुलिक काल- सुबह 05 बजकर 36 मिनट से 07 बजकर 16 मिनट तक
  4. यमगंड- दोपहर 1 बजकर 58 मिनट से 3 बजकर 39 मिनट तक

आज का पंचांग (Aaj ka Panchang)


आज का योग-  धृति, शाम 7 बजकर 7 मिनट तक 

आज का वार- शनिवार

आज का पक्ष- शुक्ल पक्ष

आज की तिथि- षष्ठी दोपहर 2 बजकर 56 मिनट तक है उसके बाद सप्तमी तिथि लग जाएगी.

सूर्योदय- 5 बजकर 36 मिनट पर 

दिशा शूल- पूर्व

चंद्र वास- उत्तर

राहु वास- पूर्व

ऋतु- ग्रीष्म

क्या होता है राहु काल (What is Rahu Kaal)

वैदिक ज्योतिष के मुताबिक राहु को अशुभ ग्रह माना जाता है. कहा गया है कि राहु काल की अवधि में किसी भी प्रकार के शुभ मांगलिक कार्य करने से बचना चाहिए. हालांकि राहु ग्रह का शुभ प्रभाव प्राप्त करने लिए इसके निमित्त किए जाने वाला हवन और पूजन किया जा सकता है. इसके अतिरिक्त अन्य कोई भी शुभ और मांगलिक कार्य करने से पूर्व राहु काल का विचार किया जाता है. 

गुड मॉर्निंग इंडिया: केदारनाथ धाम के खुले कपाट, CM पुष्‍कर सिंह धामी भी पूजा में हुए शामिल

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. एनडीटीवी इसकी पुष्टि नहीं करता है.) 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.