200 करोड़ मनी लॉन्ड्रिंग केस में एक और खुलासा: जैकलीन की डिजाइनर ने सुकेश से 3 करोड़ रुपए लेने की बात स्वीकार की, फेवरेट कपड़े खरीदने के लिए दिए थे पैसे


21 मिनट पहले

200 करोड़ रुपए के मनी लॉन्ड्रिंग केस में एक्ट्रेस जैकलीन फर्नांडीज की ड्रेस डिजाइनर लिपाक्षी से पूछताछ की गई थी। रिपोर्ट्स के मुताबिक, लिपाक्षी ने सुकेश से 3 करोड़ रुपए लेने की बात को स्वीकार किया है। लिपाक्षी से 21 सितंबर को दिल्ली पुलिस की इकोनॉमिक ऑफेंस विंग (EOW) टीम ने करीब 7 घंटे तक सवाल-जवाब किए थे।

डिजाइनर ने लिए थे 3 करोड़ रुपए
टाइम्स नाउ की रिपोर्ट के मुताबिक, लिपाक्षी ने बताया कि सुकेश चंद्रशेखर ने उसे जैकलीन को कपड़े और गिफ्ट्स देने के लिए 3 करोड़ रुपए दिए थे। हालांकि, डिजाइनर ने बताया कि जैकलीन ने सुकेश की गिरफ्तारी के बाद उससे सारे संबंध खत्म कर दिए थे।

लिपाक्षी बताती थीं जैकलीन की पसंद-नापसंद
EOW के एक ऑफिसर ने न्यूज एजेंसी PTI को बताया, “सुकेश ने पिछले साल जैकलीन की फेवरेट ब्रांड्स और वो किस तरह के कपड़े पसंद करती हैं, ये जानने के लिए लिपाक्षी से कॉन्टेक्ट किया था। उसने डिजाइनर से सुझाव लिए और साथ ही उसे जैकलीन के फेवरेट कपड़े खरीदने के लिए 3 करोड़ रुपए भी दिए थे। लिपाक्षी ने चंद्रशेखर द्वारा दिए गए पैसे जैकलीन के लिए गिफ्ट्स खरीदने में खर्च कर दिए थे।”

सुकेश से शादी करना चाहती थीं जैकलीन।

सुकेश से शादी करना चाहती थीं जैकलीन।

जैकलीन को सुकेश की ठगी के बारे में पता था
जैकलीन फर्नांडीज उस वक्त मुश्किलों में आईं, जब ED ने 215 करोड़ रुपए के जबरन वसूली के मामले में उनका नाम लिया था। सेंट्रल एजेंसी का मानना है कि जैकलीन को ठग सुकेश के जबरन वसूली की जानकारी थी। ED द्वारा फाइल की गई चार्जशीट में दावा किया गया है कि सुकेश के साथ जैकलीन के रिलेशनशिप से उनकी फैमिली और फ्रेंड्स को भी लाभ हुआ है। हालांकि, जैकलीन ने बाद में कहा कि उनके खिलाफ सारे आरोप निराधार हैं।

क्या है जबरन वसूली का पूरा मामला?
ED ने सुकेश चंद्रशेखर और अन्य के खिलाफ 200 करोड़ रुपए के मनी लॉन्ड्रिंग मामले में चार्जशीट दाखिल की थी। आरोप के मुताबिक सुकेश ने तिहाड़ जेल में सजा काटते हुए एक कारोबारी की पत्नी से जबरन वसूली की थी। ED प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत जैकलीन का बयान भी दर्ज कर चुकी है। ED के मुताबिक, सुकेश के 200 करोड़ रुपए की जबरन वसूली मामले में जैकलीन अहम गवाह हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *