फ़ैक्ट-चेक: PM मोदी ने पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का अपमान नहीं किया


भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल खत्म होने से एक दिन पहले 23 जुलाई 2022 को संसद के सेंट्रल हॉल में विदाई समारोह का आयोजन किया गया था. इस समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत दोनों सदनों के सांसद मौजूद थे. इस समारोह के बाद भारत के प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का एक वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया गया. इस वीडियो के ज़रिये ये दिखाने की कोशिश की गई है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री का अभिवादन कर रहे हैं. लेकिन प्रधानमंत्री उनकी तरफ न देखकर, कैमरे की तरफ देख रहे हैं.

आम आदमी पार्टी के नेता व सांसद संजय सिंह ने ये वीडियो ट्वीट करते हुए इसे राष्ट्रपति का अपमान बताया. उन्होंने ट्वीट में लिखा कि ये लोग ऐसे ही हैं, आपका कार्यकाल ख़त्म अब आपकी तरफ़ देखेंगे भी नही. (आर्काइव लिंक)

नेशनल फ़ोरम ने ये वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, “ऐसा अपमान राष्ट्रपति का ?? इतना घमंड प्रधानमंत्री जी ठीक नहीं हैं, ये सत्ता आते जाते रहती हैं आज आपके पास है कल किसी और के पास होगी.” (आर्काइव लिंक)

राजद नेता ऋषि कुमार ने वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा कि क्या ये एक दलित राष्ट्रपति का अपमान नहीं है? (आर्काइव लिंक)

ये वीडियो कई सोशल मीडिया यूज़र्स ने शेयर किया है. हालांकि, गौर करने वाली बात ये है कि कुछ यूज़र्स ने सिर्फ प्रधानमंत्री के कैमरा-प्रेम की बात कही है, वहीं कई ने इसे राष्ट्रपति का अपमान बताया है.

फ़ैक्ट-चेक

ऑल्ट न्यूज़ ने देखा कि वायरल वीडियो में ‘संसद टीवी’ का लोगो दिख रहा है. इस आधार पर हमने यूट्यूब पर संसद टीवी चैनल की टाइमलाइन चेक की तो हमें वायरल वीडियो का पूरा हिस्सा इस चैनल पर मिला.

इस वीडियो को गौर से देखने पर हमने कुछ बातें नोटिस कीं :

  • वीडियो के 00:58 से लेकर 1:01 टाइम फ़्रेम तक साफ तौर पर देखा जा सकता है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हाथ जोड़कर अभिवादन किया. फिर प्रधानमंत्री ने हाथ जोड़कर उनके अभिवादन को स्वीकार किया.
  • इसके बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद हाथ जोड़कर आगे बढ़ते हैं. गौर करने वाली बात ये है कि वीडियो के 1:03 से 1:08 टाइम फ्रेम में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से थोड़ा आगे रुक कर काकीनाड़ा (आंध्र प्रदेश) की सांसद, गीता विश्वनाथ वांगा का अभिवादन करते हैं और उनसे कुछ बात भी करते हैं.
  • कैमरे का ऐंगल प्रधानमंत्री की तरफ होने की वजह से वीडियो में ऐसा लगता है कि रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री के सामने हाथ जोड़कर खड़े हैं, और उन्हें कुछ कह रहे हैं, लेकिन प्रधानमंत्री ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी. जबकि असल में उस वक्त रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से थोड़ा आगे खड़े हैं और सांसद गीता विश्वनाथ वांगा का अभिवादन कर रहे होते हैं.

नीचे, विज़्यूअल्स से इसे आसानी से समझा जा सकता है.


कुल मिलाकर, रामनाथ कोविंद के विदाई समारोह का वीडियो क्लिप कर शेयर करते हुए ग़लत दावा किया गया. PM नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का अपमान नहीं किया. असल में रामनाथ कोविंद के हाथ जोड़कर अभिवादन करने के बाद प्रधानमंत्री ने भी हाथ जोड़कर उनके अभिवादन को स्वीकार किया. वीडियो का जो हिस्सा शेयर करते हुए अपमान की बात की जा रही है, उसमें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, काकीनाड़ा (आंध्र प्रदेश) की सांसद, गीता विश्वनाथ वांगा का अभिवादन कर रहे थे.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.