फ़ैक्ट-चेक: भारतीय गेंदबाज अर्शदीप को खालिस्तानी बताने वाले अकाउंट्स सिर्फ पाकिस्तान के थे?


4 सितम्बर को एशिया कप 2022 के सुपर 4 मैच में भारत बनाम पाकिस्तान का क्रिकेट मैच था. इसमें पाकिस्तान ने 5 विकेट से जीत दर्ज की. इस मैच के दौरान एक मौके पर पाकिस्तान का स्कोर था 151 और जीत का लक्ष्य था 182. पाकिस्तानी क्रिकेटर आसिफ़ अली बैटिंग कर रहे थे. इस वक्त भारत को एक विकेट की सख्त ज़रूरत थी. 18वें ओवर की बॉलिंग कर रहे थे भारतीय गेंदबाज रवि बिश्नोई. इस ओवर के तीसरे गेंद पर आसिफ़ अली ने एक खराब शॉट खेला था और फ़ील्ड में मौजूद भारतीय गेंदबाज अर्शदीप सिंह से वो कैच छूट गया था. इसके बाद से सोशल मीडिया यूज़र्स ने अर्शदीप को ट्रोल करना शुरू कर दिया. कई अकाउंट्स ने उन्हें गालियां दी और उन्हें ‘खालिस्तानी’ भी कहा.


पंजाब किंग्स ने अर्शदीप के समर्थन में ट्वीट करते हुए कहा, “हमें आप पर गर्व है अर्श”. इसपर प्रतिक्रिया देते हुए राइट विंग इनफ्लूएन्सर @MrSinha_ ने लिखा कि पंजाब किंग्स उन लोगों की जय-जयकार कर रहा है जो भारतीय क्रिकेट टीम की हार के लिए ज़िम्मेदार हैं. क्या खालिस्तानी चला रहे हैं ये अकाउंट? बाद में उसने ये ट्वीट डिलीट कर दिया (आर्काइव लिंक). ज्ञात हो कि इस अकाउंट को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फॉलो करते हैं. इसके अलावा इसके फॉलोअर्स की लिस्ट में कई राइट विंग इनफ्लूएन्सर जैसे राइट विंग प्रॉपगेंडा वेबसाइट ऑपइंडिया के CEO राहुल रौशन, राइट विंग पोर्टल ओन्लीफ़ैक्ट के फ़ाउंडर विजय पटेल, भाजपा समर्थक अंकित जैन और अमित कुमार शामिल हैं.


राइट विंग इनफ्लूएन्सर @delhichatter ने अर्शदीप को ‘गद्दार’ कहा. बाद में ये ट्वीट डिलीट कर दिया गया. (आर्काइव लिंक)


विश्वास नाम के यूज़र ने ट्वीट करते हुए लिखा कि अर्शदीप ऑपरेशन ब्लू स्टार में कैसे बच गया था. (आर्काइव लिंक)


Shimorekato नाम के यूज़र ने अर्शदीप को गाली दी और खालिस्तानी बुलाते हुए कनाडा चले जाने को कहा. (आर्काइव लिंक)


अर्शदीप के समर्थन में उतरी हस्तियां

इन सब के बीच कई हस्तियों ने अर्शदीप के समर्थन में ट्वीट किया. पूर्व भारतीय क्रिकेटर और राज्य सभा सांसद हरभजन सिंह ने ट्वीट में लिखा, “युवा खिलाड़ी अर्शदीप की आलोचना करना बंद करें, कोई जानबूझकर कैच नहीं छोड़ता. हमें अपने लड़कों पर गर्व है, पाकिस्तान ने बेहतर खेला. ऐसे लोगों पर शर्म आती है जो इस प्लेटफॉर्म पर सस्ती बातें कहकर अर्शदीप और भारतीय टीम को नीचा दिखा रहे हैं.”

भारतीय क्रिकेटर इरफान पठान ने ट्वीट करते हुए लिखा कि अर्शदीप एक दमदार किरदार है. विराट कोहली ने कहा कि दबाव में कोई भी गलती कर सकता है, यह एक बड़ा मैच था. आप उनसे सीखते हैं ताकि अगली बार जब मौका आए, आप ऐसे महत्वपूर्ण कैच लेने की उम्मीद कर सकते हैं.

सिर्फ पाकिस्तानी अकाउंट्स ने अर्शदीप को खालिस्तानी बताया?

CNN न्यूज़18 की एडिटर पल्लवी घोष ने सरकारी सूत्रों का हवाला देते हुए लिखा कि अर्शदीप सिंह को ट्रैश करने वाले ट्वीट्स की श्रृंखला की जांच की जा रही है और पता लगाया जा रहा है. अभी के लिए ये पाकिस्तान के फ़ेक अकाउंट्स लग रहे हैं, इसे बढ़ाया नहीं जाना चाहिए. (आर्काइव लिंक)


सूचना और प्रसारण मंत्रालय के वरिष्ठ सलाहकार कंचन गुप्ता ने एक ट्विटर थ्रेड को कोट ट्वीट करते हुए कहा कि कैसे पाकिस्तानी हैंडल ने एक भयावह मकसद से अर्शदीप सिंह को निशाना बनाया और कैसे इन ट्वीट्स को मोहम्मद ज़ुबैर ने भारत की छवि धूमिल करने के लिए आगे बढ़ाया. (आर्काइव लिंक)

राइट विंग इनफ्लूएन्सर अंशुल सक्सेना ने पाकिस्तानी अकाउंट्स द्वारा किए गए ट्वीट्स के स्क्रीनशॉट ट्वीट करते हुए दावा किया कि पाकिस्तान अपना खालिस्तानी प्रोपेगेंडा चला रहा है और अर्शदीप को खालिस्तानी बोल रहा है. बाद में अंशुल ने अपने ट्वीट के थ्रेड के अंत में जोड़ा कि ये साफ है कि पाकिस्तान के अकाउंट्स ने अर्शदीप सिंह को खालिस्तानी कहकर निशाना बनाना शुरू कर दिया. लेकिन दुखद बात यह है कि भारत के कुछ लोग भी जाल में फंस गए और अर्शदीप को उसी तरह ट्रोल कर दिया. (आर्काइव लिंक)

अर्शदीप को खालिस्तानी बोलने वाले अकाउंट्स का सच

सबसे पहले हमने इंटरनेट पर वायरल स्क्रीनशॉट में मौजूद ट्वीट्स को सर्च किया तो पाया कि ये ट्वीट्स अभी भी मौजूद हैं. इनमें से कुछ ट्विटर अकाउंट्स के ट्वीट, रीट्वीट, लाइक के पैटर्न से पता चलता है कि ये भारतीय अकाउंट्स हैं. स्क्रीनशॉट वायरल होने के बाद कईयों ने अपना अकाउंट लॉक कर लिया है या डिऐक्टिवेट कर लिया है. हालांकि, इन अकाउंट के ट्वीट और प्रोफ़ाइल का आर्काइव लिंक नीचे मौजूद है. नीचे इन अकाउंट्स द्वारा किये गए कुछ ट्वीट्स से मालूम पड़ता है कि ये भारतीय अकाउंट्स हैं.

Case 1 – Twitter User Shivam (@Shivambiswal)

ट्विटर यूज़र शिवम ने अर्शदीप द्वारा कैच छूटने के बाद खालिस्तान से जोड़कर ट्वीट किया था. (आर्काइव)


हमने जब शिवम का ट्विटर प्रोफ़ाइल खंगाला तो पाया कि शिवम भारतीय अकाउंट है और अक्सर भाजपा नेता कपिल मिश्रा, तजिंदरपाल सिंह बग्गा, राइट विंग इनफ्लूएन्सर अंशुल सक्सेना सहित अन्य राइट विंग से जुड़े अकाउंट Gems of Bollywood के समर्थन में ट्वीट करता रहता है. इससे साफ है कि ये अकाउंट भारतीय यूज़र का है. ट्वीट का स्क्रीनशॉट वायरल होने के बाद शिवम ने अपना अकाउंट डिऐक्टिवेट कर लिया. हालांकि, शिवम के प्रोफ़ाइल का आर्काइव लिंक यहां मौजूद है.


Case 2 – Twitter User Clock Tower (@Clocktower45)

ट्विटर यूज़र Clock Tower ने कैच छूटने पर अर्शदीप को खालिस्तानी बोला था. (आर्काइव लिंक)


जब हमने Clock Tower नाम के यूज़र का ट्विटर प्रोफ़ाइल खंगाला तो पाया कि इसने पहले भारतीय जनता युवा मोर्चा मुंबई के अध्यक्ष तजिंदर तिवाना को जन्मदिन की बधाई दी थी. इसके साथ ही इस यूज़र ने महाराष्ट्र में एकनाथ शिंदे सरकार बनने पर हिन्दू त्योहार को लेकर ट्वीट किया था. हरभजन सिंह का अर्शदीप पर लिए गए स्टैंड पर इस यूज़र ने लिखा है कि वो हमारा भारतीय खिलाड़ी है और हम उसकी आलोचना कर सकते हैं. इसके अलावा 29 अगस्त को पाकिस्तान की हार को लेकर किया गया ट्वीट साफ इशारा करता है कि ये एक भारतीय अकाउंट है. (प्रोफ़ाइल का आर्काइव लिंक)


Case 3 – Twitter User Pradeep (@MahakalMessi)

ट्विटर यूज़र प्रदीप ने कैच छूटने के बाद एक ट्वीट में अर्शदीप को खालिस्तानी कहते हुए गाली दिया था. (आर्काइव लिंक)


हमने प्रदीप का ट्विटर अकाउंट खंगाला तो पाया कि ये यूज़र भारतीय क्रिकेटर ऋषभ पंत को T20 क्रिकेट में नहीं खेलने की बात कर रहा था. इसके अलावा इस यूज़र के प्रोफ़ाइल पर धोनी, कोहली, और इंडियन क्रिकेट टीम के समर्थन में कई ट्वीट्स हैं. 5 फरवरी 2021 को इस यूज़र ने ट्वीट करते हुए Jio सिम इस्तेमाल करने की बात की थी. यानी, ये यूज़र भी भारतीय है. प्रदीप के प्रोफ़ाइल का आर्काइव यहां मौजूद है.


Case 4 – Twitter User Lakshman (@Rebel_notout)

ट्विटर यूज़र लक्ष्मण ने अर्शदीप से कैच छूटने के तुरंत बाद 11:05 पर ‘खालिस्तानी’ ट्वीट किया था. (आर्काइव लिंक)


हमने लक्ष्मण का ट्विटर अकाउंट खंगाला तो पाया कि उसने पहले भी भारतीय राजनीतिक परिदृश्य से जुड़े कई ट्वीट्स किये थे. एक ट्वीट में लक्ष्मण ने लिखा है कि कश्मीर में तभी शांति हो सकती है जब वहां सिर्फ हिन्दू रहेंगे. लक्ष्मण के प्रोफ़ाइल का आर्काइव यहां मौजूद है.


Case 5 – Twitter User Risabh Upadhyay (@oyerishabhai)

ट्विटर यूज़र ऋषभ उपाध्याय ने मैच में हार का ज़िम्मेदार खालिस्तानी कौम को बताया था. (आर्काइव लिंक)


जब हमने ऋषभ के ट्विटर अकाउंट को खंगाला तो पाया कि इस यूज़र ने कई राइट विंग इनफ़्लूएंसर्स के ट्वीट को रीट्वीट किया था. साथ ही यूज़र ने पहले कई ऐसे ट्वीट्स किये हैं. नूपुर शर्मा को भाजपा से निलंबित करने पर ऋषभ ने नूपुर शर्मा के समर्थन में ट्वीट किया था और उसी ट्वीट में भाजपा का विरोध किया था. इन सब बातों से ये स्पष्ट होता है कि ये एक भारतीय यूज़र का अकाउंट है. ऋषभ के प्रोफ़ाइल का आर्काइव लिंक यहां मौजूद है.


और भी कई ऐसे अकाउंट्स जिनके आर्काइव यहां देखे जा सकते हैं (1, 2, 3, 4, 5, 6). इन यूज़र्स के प्रोफ़ाइल का आर्काइव क्रमशः है (1, 2, 3, 4, 5, 6). इन अकाउंट्स के पुराने ट्वीट और रीट्वीट्स से पता चलता है कि ये भारतीय अकाउंट्स हैं.

This slideshow requires JavaScript.

अर्शदीप से करीब 11:05 पर वो कैच छूटा था, इसलिए हमने ट्विटर पर epoch time की मदद से एशिया/कलकत्ता टाइमज़ोन 11:05 से 11:10 के बीच ‘खालिस्तान’ और ‘खालिस्तानी’ कीवर्ड पर हुए ट्वीट्स चेक किये. इसमें गौर करने वाली बात ये है कि इस टाइमफ़्रेम के बीच ‘खालिस्तानी‘ ट्वीट् करने वाले अधिकतर भारतीय अकाउंटस् प्रतीत होते हैं. वहीं, इसी टाइमफ्रेम के बीच ‘खालिस्तान‘ ट्वीट करने वाले अधिकतर अकाउंट्स पाकिस्तानी मालूम होते हैं. इसी आर्काइव में पाकिस्तानी पत्रकार वजाहत सईद खान का ट्वीट भी शामिल है, ये ट्वीट भी इसी अन्तराल में किया गया था. कैच छूटने के बाद पाकिस्तानी अकाउंट्स अर्शदीप से खालिस्तान को जोड़कर उनका मज़ाक उड़ा रहे थे, वहीं भारतीय अकाउंट्स अर्शदीप को ‘खालिस्तानी’ कहकर गालियां भी दे रहे थे. ऊपर हमने एक ही समय में दोनों की-वर्ड्स (खालिस्तान और खालिस्तानी) के सर्च रिजल्ट का आर्काइव हाइपरलिंक किया है. दोनों आर्काइव में कैच छूटने के तुरंत बाद किये गए ट्वीट्स मौजूद हैं, आर्काइव लिंक पर क्लिक करके नीचे स्क्रॉल करने पर उस समय किये गए सभी ट्वीट्स देखे जा सकते हैं.


‘खालिस्तानी’ कीवर्ड पर किये गए कुछ ट्वीट्स टाइमस्टैम्प के साथ नीचे कोलाज में मौजूद है, इसे आप यहां क्लिक करके भी देख सकते हैं.


यहां हम भारतीय और पाकिस्तानी अकाउंट्स द्वारा खालिस्तान से जोड़कर किये गए ट्वीट्स की लिस्ट अटैच कर रहे हैं. इस फ़ाइल में भारतीय अकाउंट्स द्वारा किये गए ट्वीट्स के आर्काइव लिंक भी मौजूद हैं.

कुल मिलाकर, कई राइट-विंग इनफ़्लूएंसर्स ने सिर्फ पाकिस्तानी अकाउंट्स द्वारा किए गए ट्वीट्स को छांटकर शेयर करते हुए दावा किया कि अर्शदीप को टारगेट कर ‘खालिस्तानी’ बताने वाले ट्वीट्स पाकिस्तान से शुरू किये गए प्रॉपगेंडा का हिस्सा है, लेकिन कैच छूटने के तुरंत बाद किये गए ट्वीट्स की जांच करने पर मालूम पड़ा है कि ऐसे ट्वीट्स एक ही समय पर भारतीय और पाकिस्तानी अकाउंट्स से किये गए थे. पाकिस्तानी अकाउंट्स ने अपने बैट्समैन का कैच छोड़ने पर अर्शदीप का मज़ाक उड़ाया. वहीं भारतीय अकाउंट्स ने कैच छूटने पर अर्शदीप को खालिस्तानी कहने के साथ-साथ गालियां भी लिखी. ऐसे ट्वीट्स भारत और पाकिस्तानी सोशल मीडिया यूज़र्स द्वारा एक ही समय पर किये गए.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.