‘हर हर शंभू’ गाने से मशहूर सिंगर फरमानी नाज़ ने नहीं कहा, ‘मेरे पूर्वज हिंदू थे’


हाल में ‘हर हर शंभू’ गाना काफी पॉपुलर हुआ है. इस गाने को अभिलाषा पांडे ने गाया है. वहीं इसका कवर सॉन्ग फरमानी नाज़ ने गाया है. इसके दोनों ही वर्ज़न लोगों को काफी पसंद आ रहे हैं. इस बीच फरमानी नाज़ के नाम पर बने एक ट्विटर अकाउंट ‘@FarmaniNazz786’ ने 2 अगस्त 2022 को एक ट्वीट किया. इस ट्वीट में लिखा है कि फरमानी के पूर्वज पहले हिन्दू थे और इस वजह से उन्होंने ‘हर हर शंभू’ गाना गाया. साथ में लिखा है कि वो जल्द ही हिन्दू धर्म स्वीकार कर लेंगी. इस ट्वीट को 48 हज़ार लोगों ने लाइक और करीब 8 हज़ार लोगों ने रिट्वीट किया है. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)


5 अगस्त को इस हैन्डल ने ट्वीट करते हुए लिखा कि सिर्फ सनातन धर्म में महिलाओं का सम्मान पुरुषों के बराबर होता है. इसलिए उन्होंने ‘हर हर शंभू’ गाना गाया. एक और ट्वीट में गाना गाकर परिवार की शुद्धि करने की बात लिखी गई. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)



ऐसे ही एक ट्वीट में ‘जिहादियों’ द्वारा मारने की धमकी मिलने की बात भी कही गई. (आर्काइव लिंक)


इसके अलावा, इस अकाउंट ने बार बार फ़ॉलो करने के लिए यूज़र्स से रीक्वेस्ट की है. फिलहाल ये अकाउंट अब डिलीट कर दिया गया है.


फ़ैक्ट-चेक

ट्विटर पर फरमानी नाज़ के अकाउंट्स के बारे में सर्च करने पर हमें ढेरों हैन्डल्स मिलें. लेकिन इन हैन्डल्स की टाइमलाइन चेक करने पर हमें मालूम हुआ कि इनमें सिर्फ ‘@farmaninaaz786’ हैन्डल ही असली है. गौर करें कि दोनों अकाउंट्स के हैन्डल नेम में स्पेलिंग का अंतर है. असली अकाउंट में नाज़ की स्पेलिंग ‘naaz’ है. जबकि फ़ेक अकाउंट में स्पेलिंग ‘nazz’ है और ‘F’ कैपिटल लेटर में लिखा है.


असली हैन्डल से 3 अगस्त को एक वीडियो ट्वीट किया गया. फरमानी ने वीडियो में बताया कि हैन्डल ‘@farmaninaaz786’ उनका असली अकाउंट है और बाकी ट्विटर अकाउंट्स फ़र्ज़ी है. उन्होंने कहा कि उनके नाम से चल रहे फ़र्ज़ी अकाउंट्स ने उनके धर्म परिवर्तन की बात की है. लेकिन इन दावों में कोई सच्चाई नहीं है.

हालांकि, ये वीडियो भी फ़ेक ट्विटर हैन्डल @FarmaniNazz786 ने डाउनलोड कर ट्वीट किया. ताकि लगे कि ये फरमानी का असली ट्विटर अकाउंट है.

‘@FarmaniNazz786’ के पुराने ट्वीट्स देखने पर हमें मालूम चला कि इस अकाउंट का हैन्डल नेम पहले ‘@Nitin_shuklaa’ था जिसे बाद में ‘@FarmaniNaazz’ किया गया था. कुछ ट्वीट्स के रिप्लाइ में ये हैन्डल नेम दिखता है. (लिंक 1, लिंक 2)


असली ट्विटर हैन्डल ‘@farmaninaaz786’ अगस्त 2020 में बनाया गया था. इस हैन्डल की टाइमलाइन पर हमें कोई संदेहजनक ट्वीट नहीं मिला जिसमें धर्म परिवर्तन या ‘जिहादी’ द्वारा मारने की धमकी के बारे में बताया गया हो.

कुल मिलाकर, फरमानी नाज़ के हवाले से चलाए जा रहे बाकी ट्विटर अकाउंट्स फ़र्ज़ी है. उनका असली अकाउंट ‘@farmaninaaz786’ है. ये कोई पहली बार नहीं है जब किसी चर्चित व्यक्ति के नाम से फ़र्ज़ी ट्विटर अकाउंट्स चलाए गए हैं. पहले भी राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, किसान नेता राकेश टिकैत समेत कई लोगों के नाम से फ़ेक अकाउंट्स बनाये गए थे.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.