सोनाली बेंद्रे ने बॉडी-शेमिंग को लेकर किया खुलासा: बोलीं- 90 के दशक में पतले होने को अच्छा नहीं माना जाता था


4 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सोनाली बेंद्रे 90 के दशक की खूबसूरत एक्ट्रेसेस में से एक रही हैं। सोनाली ने हाल ही में एक इंटरव्यू में खुलासा किया कि कभी उन्हें भी बॉडी शेमिंग का शिकार होना पड़ा था। सोनाली ने बताया कि वो बहुत पतली हुआ करती थीं और 90 के दशक में इसे अच्छा नहीं माना जाता था।

सोनाली हुई थीं बॉडी शेमिंग का शिकार
सोनाली ने बताया, “90 के दशक में पतला होना ब्यूटी स्टेंडर्ड नहीं माना जाता था। लेकिन अगर आप कर्वी फिगर वाले हैं तो आपको खूबसूरत माना जाता था। मुझे तो लोगों ने यहां तक कहा था कि अगर आपका फिगर कर्वी नहीं हैं, तो आप बिल्कुल अट्रैक्टिव नहीं हैं।”

खूबसूरती के लिए कोई स्टेंडर्ड फिक्स नहीं हैं
सोनाली ने आगे कहा, “मैं इस बात को मानती हूं कि बॉडी शेमिंग हमारे समाज का हिस्सा नहीं होना चाहिए, खासकर उन छोटी लड़कियों के लिए जो आज के समय में इन विचारों के साथ आगे बढ़ रही हैं कि डाइटिंग करना जरुरी है। लोग यह भूलते जा रहे हैं कि यह कोई इतनी महत्वपूर्ण चीज नहीं है।” बता दें, माधुरी दीक्षित ने भी बॉडी शेमिंग को लेकर बात की थी। उन्होंने बताया था कि लोग उन्हें बोलते थे, ‘मोटा करो इसको।’

सोनाली ने ‘आग’ से किया था बॉलीवुड डेब्यू
सोनाली ने अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत 1994 में आई फिल्म आग से की थी। इस फिल्म में शिल्पा शेट्टी, गोविंदा और शक्ति कपूर भी थे। सोनाली को 1996 में दिलजले से ब्रेक मिला था। एक्ट्रेस ने अपने करियर में ‘मेजर साब’ (1998), ‘जख्म’ (1998), ‘सरफरोश’ (1999), ‘हम साथ-साथ हैं’ (1999) और ‘हमारा दिल आपके पास है’ (2000) जैसी कई फिल्मों में काम किया है।

कई टीवी शोज में रह चुकी हैं जज
सोनाली ‘इंडियाज बेस्ट ड्रामेबाज’, ‘हिंदुस्तान के हुनरबाज’, ‘इंडियाज गॉट टैलेंट’ और ‘इंडियन आइडल’ जैसे कई टीवी शोज को जज कर चुकी हैं। सोनाली ने जी5 के शो ‘द ब्रोकन न्यूज’ से अपना ओटीटी डेब्यू किया था। इसमें सोनाली के अलावा जयदीप अहलावत और श्रिया पिलगांवकर भी लीड रोल में थे।

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.