सूरज के इस हिस्से में 10 लाख °C होता है तापमान, NASA यहां क्यों भेज रहा ‘जूते का बॉक्स’?


उन्होंने कहा, ‘इसी वजह से काफी ऊर्जा निकलती है, जिसे हम सोलर फ्लेयर के रूप में देखते हैं.’ सूर्य के कोरोना यानी उसके बाहरी वातावरण में नासा और दुनियाभर के शोधकर्ता काफी रुचि दिखा रहे हैं. अगस्त महीने में नासा ने एक एक्स-रे सोलर इमेजर को लॉन्च किया था (Sun Origin Plasma). ताकि ये पता लगाया जा सके कि सूर्य का कोरोना उसकी सतह से ज्यादा गर्म क्यों होता है. (तस्वीर- नासा)



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *