श्रीनगर का पुराना वीडियो पाकिस्तान से भारत की हार के बाद आतिशबाज़ी बताकर शेयर


4 सितंबर को एशिया कप के सुपर 4 गेम में पाकिस्तान से भारत को हार का सामना करना पड़ा. पाकिस्तान की जीत का जश्न बताकर आतिशबाज़ी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है. साथ ही दावा किया है कि भारत की हार की ख़ुशी में श्रीनगर में ये आतिशबाज़ी की गई थी.

सुदर्शन न्यूज ने ये वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा था, “श्रीनगर में पाकिस्तान के सामने भारत की हार पर मनाई गई ख़ुशी, फोड़े गए पटाखे.” ट्वीट के कैप्शन में ये भी कहा गया कि इन “सपोलो” का समूल विनाश सुनिश्चित किया जाना जरूरी है. बाद में ये ट्वीट डिलीट कर दिया गया लेकिन पब्लिक डोमेन में इसका आर्काइव मौजूद है.


इसी तरह सुदर्शन न्यूज़ के पत्रकार सागर कुमार ने भी इसी दावे के साथ वीडियो शेयर किया था. उन्होंने भी बाद में ट्वीट डिलीट कर दिया. (आर्काइव लिंक)


इसके अलावा भी कई यूज़र्स ने ये वीडियो इसी दावे के साथ ट्वीट किया है.

इसके अलावा फ़ेसबुक पर भी इस वीडियो को कई बार शेयर किया जा गया है.


फ़ैक्ट-चेक

वायरल वीडियो को ध्यान से देखने पर हमने नोटिस किया कि वीडियो में 5 सेकेंड पर एक मस्जिद जैसी ईमारत दिखाई दे रही है. इसके अलावा, 43 सेकंड पर जब आतिशबाज़ी कुछ सेकंड के लिए बंद हो जाती है तो भीड़ “नारा-ए-तकबीर, अल्लाह-ओ-अकबर” के नारे लगाती है.


इन बातों को ध्यान में रखते हुए हमने फ़ेसबुक पर उर्दू में एक की-वर्ड्स सर्च किया जिससे आतिशबाज़ी के ऐसे कई वीडियोज़ सामने आए. इन वीडियो के बारे में दावा किया गया है कि ये श्रीनगर का है. इनमें से हमें अगस्त 2020 में दो अलग-अलग यूज़र्स द्वारा शेयर किया गया वीडियो मिला (पहला, दूसरा). इस वीडियो में भी हम लोगों को “नारा-ए-तकबीर” का नारा लगाते हुए सुन सकते हैं.


वीडियो के साथ उर्दू में एक कैप्शन भी था जिसका अनुवाद है, “श्रीनगर के नवाकदल इलाके में पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस पर आतिशबाज़ी का प्रदर्शन…” इस आधार पर हमने सबंधित की-वर्ड्स का इस्तेमाल करके फ़ेसबुक पर सर्च किया हमें वायरल वीडियो मिल गया. इसे 14 अगस्त, 2020 यानी, पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस के मौके पर फ़ेसबुक पर शेयर किया गया था.


वीडियो के कैप्शन में दावा किया गया कि ये श्रीनगर के नवाकादल का है. गूगल अर्थ प्रो का इस्तेमाल करके हमने देखा कि वीडियो में दिख रहा मस्जिद असल में श्रीनगर के मस्जिद अबू बक्र के पास नवाकदल चौक का है.


हमें श्रीनगर पुलिस का भी ट्वीट मिला जिसमें दावा किया गया था कि वीडियो आधा दशक पुराना है और इसे नवाकदल चौक पर लिया गया था.


हालांकि, ये बताना मुश्किल है कि वायरल क्लिप कब लिया गया था, पर बाकि सबूतों के आधार पर ये कहना आसान है कि वीडियो क्लिप असल में श्रीनगर की है. लेकिन ये भारत और पाकिस्तान के बीच 4 सितंबर के एशिया कप मैच से काफी पहले लिया गया था.

कुल मिलाकर, सुदर्शन न्यूज़ और चैनल के पत्रकारों ने श्रीनगर की पुरानी क्लिप को 2022 एशिया कप में भारत बनाम पाकिस्तान मैच के बाद का बताकर शेयर कर दिया. सुदर्शन न्यूज़ और यहां काम करने वाले लोगों का ग़लत सूचना फैलाने का इतिहास रहा है. ऑल्ट न्यूज़ ने इसका डॉक्यूमेंटेशन किया है. पाठक संबंधित रिपोर्ट यहां देख सकते हैं.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.