शिवसेना के दोनों गुटों को शिवाजी पार्क में दशहरा रैली के आयोजन की BMC ने नहीं दी अनुमति


मुंबई: मुंबई के नगर निकाय ने शिवसेना के दो प्रतिद्वंद्वी गुटों को शहर के प्रतिष्ठित शिवाजी पार्क में 5 अक्टूबर को दशहरा रैली के आयोजन की अनुमति देने से इनकार कर दिया है.

नगर निकाय के एक अधिकारी ने दिप्रिंट को बताया कि बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) ने एक शीर्ष पुलिस अधिकारी के इनपुट के आधार पर समारोह की अनुमति नहीं दी है, जिसमें कानून-व्यवस्था की स्थिति बिगड़ने की आशंका जताई गई थी.

1966 में शिवसेना की स्थापना के बाद से हर साल शिवाजी पार्क में दशहरा रैली आयोजित की जाती रही है— केवल 2020 और 2021 को छोड़कर जब कोविड के कारण इसका आयोजन नहीं हुआ.

लेकिन अब, शिवसेना जब पार्टी संस्थापक बाल ठाकरे के बेटे उद्धव ठाकरे और मौजूदा मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के बीच बंट चुकी है, दशहरा रैली के आयोजन को लेकर दोनों गुटों की तरफ से जोर-आजमाइश शुरू हो गई है.

उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना ने दादर क्षेत्र स्थित पार्क में रैली की अनुमति के लिए बुधवार को बाम्बे हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी. गुरुवार को इस पर सुनवाई होनी थी.

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें