वॉरेन बफे ने 11 की उम्र में खरीदा शेयर: आज दुनिया के सबसे बड़े इन्वेस्टर, ये 5 निवेश मंत्र शेयर बाजार में दिला सकते हैं सफलता


नई दिल्ली8 घंटे पहले

गर्मियों का मौसम था। यूनिवर्सिटी ऑफ नेब्रास्का से ग्रेजुएशन करने के बाद एक स्टूडेंट ने हार्वर्ड बिजनेस स्कूल में एडमिशन के लिए अप्लाई किया। उसे बताया गया कि इंटरव्यू शिकागो के करीब एक जगह होगा। वो इंटरव्यू के लिए गया जो करीब 10 मिनट तक चला। उससे कहा गया ‘भूल जाओ… आप हार्वर्ड नहीं जा सकते।’ वो काफी परेशान हो गया और सोचा कि अपने पिता को क्या जवाब देगा?

लेकिन इस रिजेक्शन ने उसकी जिंदगी बदल दी। रिजेक्शन के बाद वो किसी और यूनिवर्सिटी में एडमिशन के बारे में सोचने लगा। तभी कोलंबिया बिजनेस स्कूल के कैटलॉग को देखते हुए उसकी नजर दो प्रोफेसरों के नामों पर पड़ी: बेंजामिन ग्राहम और डेविड डोड। उस स्टूडेंट ने इन प्रोफेसर्स की लिखी बुक ‘सिक्योरिटी एनालिसिस’ पढ़ी थी। ऐसे में अगस्त के मिड में उसने उन प्रोफेसरों को एक पत्र लिखा।

‘डियर प्रोफेसर डोड। मुझे लगा कि आप लोगों की मृत्यु हो चुकी है, लेकिन मुझे पता चला कि आप जीवित हैं और कोलंबिया में पढ़ा रहे हैं। मैं भी कोलंबिया आकर आपसे पढ़ना चाहता हूं।’ इस लेटर के बाद उस स्टूडेंट को कोलंबिया बुला लिया गया। बाद में वो स्टूडेंट दुनिया का सबसे बड़ा निवेशक बना। नाम था वॉरेन बफे। बफे को प्रोफेसर ग्राहम ने निवेश के दो नियम सिखाए जिसका वो हमेशा पालन करते हैं।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.