वेब टेलीस्कोप की बड़ी कामयाबी, सौर मंडल के बाहर जूपिटर से भी बड़ा ग्रह मिला, तस्वीरें आईं सामने


हाइलाइट्स

सौर मंडल के बाहर मिले बड़े ग्रह का नाम एचआईपी 65426 बी रखा गया
एक्‍सोप्‍लैनेट ग्रह बृहस्पति के द्रव्यमान का लगभग 12 गुना अधिक बड़ा है
4.5 अरब साल पुरानी पृथ्वी की तुलना में यह 15 से 20 मिलियन वर्ष पुराना है

वाशिंगटन. अमेरिकी (America) अंतरिक्ष संस्‍था नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (NASA) के वेब टेलीस्‍कोप (Webb telescope) को बड़ी कामयाबी मिली है. वेब टेलीस्कोप ने सौर मंडल के बाहर बृहस्पति से बड़े ग्रह का पता लगाया है और उसकी तस्‍वीरें खींची हैं. इस एक्‍सोप्‍लैनेट की तस्‍वीरें भी खींच कर पृथ्‍वी पर भेजी हैं. एक्‍सोप्‍लैनेट ऐसे ग्रह होते हैं जो सौर मंडल के बाहर सूरज या किसी अन्‍य तारों की परिक्रमा करते रहते हैं. इन तस्‍वीरों को दुनिया भर में देखा जा रहा है.

जानकारी में बताया गया है कि दुनिया के सबसे शक्तिशाली अंतरिक्ष यान ने चार अलग-अलग प्रकाश फिल्टर में इस नए पता चले ग्रह का अवलोकन किया है. नए पता चले ग्रह का द्रव्‍यमान बृहस्पति के द्रव्यमान का लगभग 12 गुना अधिक है. यह एक गैसीय ग्रह है और यहां चट्टान नहीं मिली है. इस ग्रह पर जीवन भी नहीं है. नासा ने कहा है कि नए ग्रह का नाम एचआईपी 65426 बी रखा गया है. इसकी पहली बार सीधी तस्‍वीरें ली जा सकीं हैं. हालांकि एक्‍सोप्‍लैनेट की संख्‍या 5000 से अधिक हो चुकी है.

एक्सोप्लैनेट के बारे में पहले से कहीं अधिक जानकारी मिलेगी 

नए खोजे गए एक्‍सोप्‍लैनेट की तस्‍वीर जारी करते हुए नासा ने बताया है कि अंतरिक्ष यान की क्षमता एक्सोप्लैनेट के बारे में पहले से कहीं अधिक जानकारी प्रकट करेगी. यह सौर मंडल से दूर के ग्रहों को आसानी से देख सकता है और भविष्य के अवलोकनों के रास्ते के बारे में जानकारी देता है.  वेब टेलीस्कोप से अलग ही तस्वीरों की उम्मीद की जा रही हैं. वेब ने पिछले महीने की 12 तारीख से ही नई तस्वीरें भेजना शुरू किया है. इसे पिछले साल 25 दिसंबर को प्रक्षेपित किया गया था. इसका संचालन नासा, यूरोपीय स्पेस एजेंस, कनाडाई स्पेस एजेंसी, और स्पेस टेलीस्कोप साइंस इंस्टीट्यूट मिल कर कर रहे हैं.

नए ग्रह में भरी हुई है गैस, नहीं है कोई चट्टान
नासा ने बताया है कि नए ग्रह के बारे में यही जानकारी है कि यह गैस का विशाल भंडार है, यानी इस पर कोई चट्टानी सतह नहीं है. यहां रहना भी नामुमकिन नहीं हो सकता. डब किया हुआ एचआईपी 65426 बी, यह ग्रह बृहस्पति के द्रव्यमान का लगभग 12 गुना है और हमारी 4.5 अरब साल पुरानी पृथ्वी की तुलना में लगभग 15 से 20 मिलियन वर्ष पुराना है. इस ग्रह को पहली बार 2017 में चिली में यूरोपीय दक्षिणी वेधशाला के बहुत बड़े टेलीस्कोप पर SPHERE उपकरण का उपयोग करके देखा गया था.

Tags: America, Nasa



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.