वेट लॉस करने से पहले जान लें इसके पीछे का साइंस


अगर आप अपने वजन को कम करना चाहते हैं तो सबसे पहला और जरूरी नियम है कि आप अपने मेटाबॉलिक रेट पर काम करें। अगर आप मेटाबॉलिज्म बेहतर तरीके से काम करेगा तो ऐसे में आपके द्वारा खाया गया खाना जल्दी टूटकर एनर्जी में बदलेगा।

आज के समय में अधिकतर लोग अपने बढ़ते वजन के कारण परेशान रहते हैं और वजन कम के लिए ना जाने कितनी जद्दोजहद करते हैं। जरूरत से ज्यादा एक्सरसाइज से लेकर सख्त डाइटिंग तक के नियम को फॉलो करते हैं। इससे उनका वजन कम भी हो जाता है, लेकिन जब वह अपने पुराने लाइफस्टाइल पर लौटते हैं तो फिर से उनका वजन तेजी से बढ़ना शुरू हो जाता है। ऐसे में उनका परेशान होना लाजमी है। अगर आपके साथ भी ऐसा ही कुछ होता है तो सबसे जरूरी है कि आप आंख मूंदकर कुछ भी फॉलो करने से पहले वेट लॉस के पीछे के साइंस को समझें। जब आप अपनी बॉडी को समझ जाएंगे तो आपको उसके साथ जबरदस्ती नहीं करनी पड़ेगी और आपका वजन भी बेहद आसानी से कम हो जाएगा-

इसे भी पढ़ें: निरोगी रहना है तो रोजाना सुबह खाली पेट भिगोकर खाएँ ये 5 चीज़ें

मेटाबॉलिज्म को करें बूस्ट अप

अगर आप अपने वजन को कम करना चाहते हैं तो सबसे पहला और जरूरी नियम है कि आप अपने मेटाबॉलिक रेट पर काम करें। अगर आप मेटाबॉलिज्म बेहतर तरीके से काम करेगा तो ऐसे में आपके द्वारा खाया गया खाना जल्दी टूटकर एनर्जी में बदलेगा। वहीं, स्लो मेटाबॉलिज्म होने पर भोजन एनर्जी में नहीं बदल पाता और फिर वह बॉडी में फैट के रूप में स्टोर होने लगता है। इसलिए मेटाबॉलिज्म को बूस्ट अप करने के लिए आप खुद को फिजिकली एक्टिव रखें और अपने खान-पान पर विशेष रूप से फोकस करें। याद रखें कि आपको भूखा नहीं रहना है, बल्कि पौष्टिक खाना है। 

प्रोटीन और फाइबर का कमाल

अमूमन यह देखने में आता है कि जो लोग वजन कम करने की फिराक में होते हैं। वह खाना-पीना कम कर देते हैं या फिर अपने शरीर को लंबे समय तक भूखा रखते हैं। लेकिन आपको ऐसा भी नहीं करना है। आपको खाना सही समय और सही तरह से खाना है। वजन कम करने के लिए आपको डाइट में प्रोटीन और फाइबर की मात्रा को बढ़ाना होगा। यह आपको फुलर रखेगा और एनर्जेटिक बनाते हुए वेट लॉस में मदद करेगा।

इसे भी पढ़ें: घुटने की स्ट्रेंथ को बढ़ाने के लिए करें यह चार सिंपल एक्सरसाइज

डाइट को ना करें फॉलो

यह भी एक मिसटेक है, जो अक्सर लोग करते हैं। दरअसल, जब कोई वजन कम करता है तो वह किसी डाइट को आंख मूंदकर फॉलो करता है। जबकि ऐसा नहीं करना चाहिए। सबसे पहले, तो आपको यह नहीं पता है कि वह डाइट आप पर किस तरह रिजल्ट देगी। इसके अलावा, जब आप डाइट को छोड़ेंगे तो आपका वजन बाउंस बैक होगा। इसलिए, आपको किसी डाइट को फॉलो करने की जगह अपनी रेग्युलर डाइट को मोडिफाई करना चाहिए। मसलन, अगर आप रोटी खाते हैं तो ऐसे में आप आटा गूंथते समय गेंहू के आटे में थोड़ा सा चने का आटा अर्थात् बेसन मिला लीजिए। इससे आपको कोई अंतर भी नहीं लगेगा और आपकी डाइट में प्रोटीन इनटेक बढ़ जाएगा। इसी तरह, अगर आप दाल या पनीर नहीं खा रहे हैं तो खाने के साथ दो कटोरी दही अवश्य लें।

मिताली जैन

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *