विराट कोहली ने MS Dhoni पर किया अब तक का सबसे बड़ा खुलासा, कहा-99% चांस हैं माही भाई फोन न उठाएं


Virat Kohli - India TV Hindi

Image Source : GETTY AND TWITTER
MS Dhoni and Virat Kohli

Virat Kohli On MS Dhoni: विराट कोहली की गिनती दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में होती है। उन्होंने अपने दम पर टीम इंडिया को कई मैच जिताए हैं। विराट ने महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में ही अपना डेब्यू किया था। दोनों का रिश्ता किसी से भी छुपा हुआ नहीं है। अब विराट ने अपनी आईपीएल टीम आरसीबी के पॉडकास्ट में अपने क्रिकेट करियर को लेकर बड़े खुलासे किए हैं। वहीं, उन्होंने धोनी को लेकर भी बड़ी बात कही है। आइए जानते हैं, इसके बारे में। 

विराट कोहली ने कही ये बात 

विराट कोहली ने कहा कि खराब दौर में वाइफ अनुष्का शर्मा, पूरा परिवार, बचपन के कोच के अलावा महेंद्र सिंह धोनी ही एकमात्र शख्स रहे, जो मेरी ताकत बने। कोहली ने धोनी के साथ साल 2008 से साल 2019 तक 11 साल ड्रेसिंग रूम शेयर किया। कोहली ने कहा कि महेंद्र सिंह धोनी को जानना सौभाग्य की बात है, क्योंकि कोई आप से इतना अनुभवी है और आपको उस इंसान से सीखने को मिल रहा है। हम एक-दूसरे की बहुत ही ज्यादा इज्जत करते हैं। कोहली ने आगे बोलते हुए कहा कि धोनी से संपर्क करना बहुत ही मुश्किल है। अगर मैं उन्हें फोन करता हूं, तो 99 प्रतिशत संभावना है कि वह मेरा फोन नहीं उठाएं, क्योंकि वह अपना फोन नहीं देखते हैं। मैं दो बार उनसे फोन पर बात कर चुका हूं। 

जब आपसे मजबूत होने की उम्मीद की जाती है और आपको एक मजबूत इंसान के रूप में देखा जाता है तो लोग यह पूछना भूल जाते हैं कि आप कैसे हैं? मैं ये यहां इसलिए बता रहा हूं, क्योंकि करियर में एक समय आप ऐसे एक इंसान के पास जाना चाहते हैं, जिसने आप के जैसा ही फील किया, हो। धोनी मेरी जैसी परिस्थितियों से पहले गुजर चुके थे। 

इस मैच को बताया अहम

साल 2012 में टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले दो टेस्ट हार चुकी थी। तीसरा टेस्ट मैच पर्थ में खेला जाना था। पर्थ की पिच बहुत ही मुश्किल थी, क्योंकि वहां पर बहुत ही उछाल था। उसी समय मुझे पता लग गया था कि अगर इस टेस्ट मैच में मैंने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया, तो मैं टीम में बना नहीं रह सकता हूं और मुझे चौथा टेस्ट खेलने के लिए नहीं मिलेगा। उस समय मैं टीम में सबसे कम अनुभवी प्लेयर था। 

भारत को जिताए कई मैच 

विराट कोहली पिछले एक दशक में टीम इंडिया के लिए सबसे भरोसेमंद बल्लेबाज रहे हैं। उन्होंने कई अपनी बल्लेबाजी से भारतीय टीम को मुश्किल परिस्थितियों से निकाला। सफेद गेंद के क्रिकेट में वह नंबर पर सबसे बेहतरीन बल्लेबाज बनकर उभरे। उन्होंने टीम इंडिया की तरफ से 106 टेस्ट मैचों में 8195 रन, 271 वनडे मैचों में 12809 रन और 115 टी20 मैचों में 4008 रन बनाए हैं। तीनों ही फॉर्मेट में उनके नाम कुल 74 शतक दर्ज हैं। कोहली भारत की तरफ से तीनों ही फॉर्मेट में 100 मैच खेलने वाले एकमात्र प्लेयर हैं। 

यह भी पढ़े: 

टिम साउदी ने रच दिया इतिहास, न्यूजीलैंड के लिए कोई बॉलर आज तक नहीं कर पाया ये बड़ा करिश्मा

इन 3 AUS प्लेयर्स से रोहित सेना को रहना होगा एकदम चौकन्ना, तोड़ सकते हैं WTC के फाइनल में जाने का सपना

Latest Cricket News





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *