लॉरेंस बिश्नोई गैंग से जुड़ना चाहता था मोनू मानेसर, सामने आया बातचीत का वीडियो


हाइलाइट्स

लॉरेंस बिश्नोई, मोनू मानेसर और लॉरेंस बिश्नोई का कनेक्शन
नासिर-जुनैद हत्याकांड के बाद मोनू ने विदेश में काटी फरारी
मोनू के मोबाइल ने उगले उसकी फरारी और मौज मस्ती के राज

दीपक पुरी.

भरतपुर. भरतपुर जिले के गोपालगढ़ थाना इलाके में हुए नासिर जुनैद दोहरे हत्याकांड केस के आरोपी मोनू मानेसर को लेकर बड़े खुलासा हुआ है. मोनू मानेसर कुख्यात गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई गैंग के साथ जुड़ना चाहता था. इसके लिए उसकी लॉरेंस बिश्नोई के भाई अनमोल के साथ बातचीत चल रही थी. इसकी पुष्टि हाल ही में सामने आए एक वीडियो से हुई है. हाल ही में मोनू मानेसर और लॉरेंस बिश्नोई के वीडियो कॉल का एक वीडियो सामने आया है. इससे पता चल रहा है कि मोनू मानेसर कुख्यात गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई गैंग के संपर्क में था.

पुलिस के अनुसार वह लगातार लॉरेंस बिश्नोई और गैंगस्टर राजू बिसोदी के संपर्क में था. मोनू मानेसर ने पहले लॉरेंस बिश्नोई के भाई अनमोल से बातचीत की. उसके बाद लॉरेंस बिश्नोई और राजू बिसोदी से उसकी बातचीत हुई थी. 38 सैकेंड की इस वीडियो में मोनू मानेसर और लॉरेंस बिश्नोई सहित राजू बिसोदी बातचीत करते हुए नजर आ रहे हैं. यह वीडियो सामने आने के बाद अब पुलिस हरकत में आई है और पूरे मामले की अलग से जांच पड़ताल शुरू की है.

अपराध की दुनिया में नाम कमाना चाहता था मोनू
लॉरेंस बिश्नोई के भाई अनमोल के साथ मोनू मानेसर की सिग्नल ऐप पर एक चैट वायरल हुई थी. उसके आधार पर यह सामने आ रहा था कि मोनू मानेसर लॉरेंस बिश्नोई गैंग के साथ जुड़कर अपराध की दुनिया में अपना नाम कमाना चाहता था. अब ताजा वीडियो से साबित हुआ है कि मोनू मानेसर ने लॉरेंस बिश्नोई से बातचीत की थी और वह लगातार उसके संपर्क में था. अब इस मामले को लेकर सियासत गरमाई हुई है. मोनू मानेसर पहले लगातार अलग-अलग हथियारों के साथ सोशल मीडिया पर फोटो डालता था. उसको लेकर भी सवाल खड़े हो रहे हैं कि इतने हथियार मोनू मानेसर के पास कहां से और कैसे आए?

मोनू ने अपनी फरारी विदेश में मस्ती करते हुए काटी थी
उल्लेखनीय है कि गोपालगढ़ थाना इलाके के घाटमीका गांव के रहने वाले नासिर और जुनैद हत्याकांड मामले के आरोपी मोनू मानेसर से पूछताछ के दौरान उसके मोबाइल से कई वीडियो और सिगनल ऐप पर चैट मिली है. इस हत्याकांड के बाद आरोपी मोनू मानेसर फरारी काटने के लिए विदेश में गया था. वहां उसने फरारी काटने के दौरान खूब मौज मस्ती की थी. उसके वीडियो उसके मोबाइल में देखे गए हैं. उनमें मोनू मानेसर समुद्र किनारे मस्ती करता हुआ नजर आ रहा है. मोनू मानेसर की गिरफ्तारी के दौरान से जब्त किए गए मोबाइल में ये वीडियो मिले हैं.

इलाके में अपनी दहशत कायम करना चाहता था मोनू
बताया जा रहा है कि इस हत्याकांड के बाद मोनू मानेसर अपनी बादशाहत बरकरार रखने के लिए लॉरेंस गैंग के साथ मिलकर इलाके में खौफ पैदा करना चाहता था. लेकिन उससे पहले ही पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया. पुलिस सूत्रों के मुताबिक मोनू मानेसर के सिग्नल चैट पर अनमोल से बात करते हुए और विदेश में फरारी काटने के दौरान के वीडियो सामने आने के बाद पुलिस अब इसकी अलग से जांच कर रही है. मोनू मानेसर को विदेश पहुंचाने में मदद किसने की थी इसको लेकर भी जांच की जा रही है. इसके साथ ही लॉरेंस गैंग से जुड़ने के तथ्यों को लेकर पुलिस अलग से जांच कर रही है.

Tags: Bharatpur News, Crime News, Lawrence Bishnoi, Rajasthan news



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *