राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के नाम से चल रहे हैं कई ट्विटर अकाउंट्स, जबकि वो ट्विटर पर हैं ही नहीं


द्रौपदी मुर्मू भारत की 15वीं राष्ट्रपति बन चुकी हैं. वे एक साधारण पृष्ठभूमि से आनेवाली पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति होंगी. इस दौरान, द्रौपदी मुर्मू के नाम से तकरीबन 50 से ज़्यादा ट्विटर अकाउंट्स चलाए जा रहे हैं. लेकिन गौर करें कि इनमें से एक भी हैन्डल वेरिफ़ाइड नहीं है. जबकि ट्विटर अक्सर प्रमुख व्यक्तियों के अकाउंट को वेरिफ़ाइड लेबल (ब्लू टिक) देता है. आज के इस आर्टिकल में ऑल्ट न्यूज़ आपको ऐसे ही कुछ प्रमुख ट्विटर हैन्डल्स की सच्चाई बताएगा.

This slideshow requires JavaScript.

1. ‘@draupadimurmupr’

ऑल्ट न्यूज़ ने पाया कि ये अकाउंट जून 2022 में बनाया गया था. ट्विटर बायो के हिसाब से ये भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का ऑफ़िशियल अकाउंट है. इसे तकरीबन 50 हज़ार से ज़्यादा लोग फ़ॉलो करते हैं. (अकाउंट का आर्काइव लिंक)


इस हैन्डल ने 21 जुलाई को एक ट्वीट थ्रेड शेयर किया जिसमें राष्ट्रपति पद पर चुने जाने के लिए समर्थन करने वाले मंत्री, विधायक और सांसद का धन्यवाद किया गया है. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)

प्रधानमंत्री मोदी, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, गृहमंत्री अमित शाह, भारत के उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू समेत कई प्रमुख नेताओं ने राष्ट्रपति पद पर चुने जाने को लेकर द्रौपदी मुर्मू को अभिनंदन दिया है. गौर करें कि इन्होंने ट्वीट में द्रौपदी मुर्मू के किसी भी हैन्डल को टैग नहीं किया. लेकिन इस हैन्डल ने इन सब ट्वीट्स को कोट ट्वीट करते हुए शुक्रिया कहा है. मानो ये अकाउंट द्रौपदी मुर्मू का ही हो. (लिंक 1, लिंक 2, लिंक 3, लिंक 4)

This slideshow requires JavaScript.

लेकिन साइबरपीस फ़ाउंडेशन के फ़ाउन्डर विनीत कुमार, जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के ऑफ़िशियल हैन्डल ने राष्ट्रपति बनने पर द्रौपदी मुर्मू को बधाई देते हुए हैन्डल ‘@draupadimurmupr’ को टैग किया.

इस ट्विटर अकाउंट को खंगालने पर हमने पाया कि यूज़र ने कई जगह वर्तनी और व्याकरण की गलतियां की हैं. ये गलतियां किसी ऑफ़िशियल हैन्डल से होना लगभग संभव नहीं है. (लिंक 1, लिंक 2, लिंक 3)

This slideshow requires JavaScript.

2. ‘@dwivedi_ji12’

ये अकाउंट जनवरी 2013 में बनाया गया था. इसे 51 हज़ार से ज़्यादा लोग फ़ॉलो करते हैं. (अकाउंट का आर्काइव्ड वर्ज़न)


इस अकाउंट ने 21 जुलाई को एक ट्वीट किया जिसमें छोटे से गाँव से राष्ट्रपति महल तक के सफर के लिए धन्यवाद दिया गया है. मानो ये द्रौपदी मुर्मू का ऑफ़िशियल अकाउंट हो. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)

कुछ यूज़र्स को जवाब देते हुए इस यूज़र ने खुद को द्रौपदी मुर्मू की तरह पेश किया है. (लिंक 1, लिंक 2, लिंक 3)

This slideshow requires JavaScript.

लेकिन इस अकाउंट की टाइमलाइन चेक करने पर हमने पाया कि इस अकाउंट ने कई मौकों पर अजीबोगरीब ट्वीट्स और रिप्लाइ किये हैं. यानी, ये द्रौपदी मुर्मू का ऑफ़िशियल अकाउंट नहीं हो सकता है.

This slideshow requires JavaScript.

3. ‘@DraupadiMurmu12’

ये अकाउंट अप्रैल 2018 में बनाया गया था. इसके अलावा, अकाउंट के बायो में भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू लिखा है. साथ में लिखा है, ‘सनातनी हिन्दू होने पर गर्व है’. इस अकाउंट के फ़ॉलोवर्स की संख्या 33 हज़ार के पार है. (अकाउंट का आर्काइव लिंक)


21 जुलाई को इस अकाउंट ने द्रौपदी मुर्मू और उनकी बेटी और नाती की तस्वीरें ट्वीट कीं. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)

24 जून को हैन्डल ‘@DraupadiMurmu12’ ने एक ट्वीट किया था जिसमें यशवंत सिन्हा और द्रौपदी मुर्मू की तस्वीर है. साथ में यूज़र्स से सवाल पूछा गया कि इन दोनों में से कौन चुनाव जीतेगा. इस ट्वीट पर हैन्डल ‘@draupadimurmum’ ने रिप्लाइ करते हुए इसे फ़र्ज़ी अकाउंट बताया. इसके बाद ‘@DraupadiMurmu12’ ने लिखा कि आपका अकाउंट भी असली नहीं है. यानी, इस हैन्डल ने खुद फ़र्ज़ी अकाउंट होने की बात स्वीकारी है.


अब गौर करें कि द्रौपदी मुर्मू के राष्ट्रपति बनने पर उन्हें ट्विटर पर कई प्रमुख लोगों ने धन्यवाद दिया था. इसमें भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल हैं. लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट में किसी अकाउंट को टैग नहीं किया है. जबकि आम तौर पर प्रधानमंत्री किसी भी प्रमुख व्यक्ति के बारे में ट्वीट करते हुए उन्हें टैग ज़रूर करते हैं. (लिंक 1, लिंक 2)

आज तक से बात करते हुए द्रौपदी मुर्मू के पीए सूरज कुमार ने बताया कि द्रौपदी मुर्मू का फिलहाल ट्विटर पर कोई अकाउंट नहीं है.

यहां ये बात तो साफ हो जाती है कि भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के हवाले से चल रहे ये सारे ट्विटर अकाउंट फ़र्ज़ी हैं.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.