रायपुर पहुंची स्वरा भास्कर: पंडरी हाट में शॉपिंग की, चरखा चलाया; बोलीं-छत्तीसगढ़ में तो सब बेहतरीन है


रायपुर5 घंटे पहले

बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर शुक्रवार को रायपुर पहुंचीं। उन्होंने आत्मानंद स्कूल, पंडरी हाट का विजिट किया। आत्मानंद स्कूल में स्वरा भास्कर ने छोटे बच्चों से मुलाकात की। स्कूल में इंफ्रास्ट्रक्चर और आर्ट वर्क को देखा। उसके बाद उन्होंने पंडरी हाट में हैंडीक्राफ्ट, माटी कला और रायपुर की स्व सहायता समूह की महिलाओं से मुलाकात की। एक्ट्रेस ने रायपुर के पंडरी हाट में चरखा चलाया, चाक पर मिट्टी का पॉट भी बनाया। सरकार की तारीफ भी की।

स्वरा भास्कर ने हाथ से तैयार कपड़ों को भी देखा। यह देखकर वह खुद को शॉपिंग करने से रोक ना सकीं। उन्होंने कहा कि उनकी एक फ्रेंड का जन्मदिन है और यहां से वह कपड़े लेकर जाना चाहती हैं। कुछ ही देर बाद उन्होंने कुछ स्टॉल्स और साड़ियां खरीदीं। इस माैके पर संस्कृति विभाग के डायरेक्टर विवेक आचार्य, छत्तीसगढ़ सरकार के सलाहकार गौरव द्विवेदी मौजूद रहे।

स्वरा भास्कर को मिला प्रदेश की तरफ तोहफा।

स्वरा भास्कर को मिला प्रदेश की तरफ तोहफा।

स्वरा भास्कर दैनिक भास्कर से बोलीं स्वरा भास्कर ने दैनिक भास्कर से खास बातचीत की। उन्होंने कहा- शॉपिंग करके मैं हमेशा बहुत खुश होती हूं और रायपुर आकर यहां के लोगों से मुलाकात के साथ कपड़ों को खरीदना एक अच्छा अनुभव रहा।

स्वरा भास्कर ने बस्तर वाला मुकुट भी पहना।

स्वरा भास्कर ने बस्तर वाला मुकुट भी पहना।

स्वरा भास्कर ने कहा कि छत्तीसगढ़ में सरकार गोबर खरीद रही है, यह बेहतरीन योजना है। गोमूत्र खरीदने पर का यहां काम हो रहा है, बाकी के देश में गोमूत्र पर राजनीति होती है। अगर गौ मूत्र पर राजनीति करनी है तो छत्तीसगढ़ जैसी राजनीति करनी चाहिए । देश में छत्तीसगढ़ जैसी ही सरकार होनी चाहिए, जो यहां इंफ्रास्ट्रक्चर और गांव का विकास कर रही है और लोगों टैक्स के पैसे को सही इस्तेमाल में लगा रही है।

स्वरा भास्कर ने बनाया मिट्‌टी का पॉट।

स्वरा भास्कर ने बनाया मिट्‌टी का पॉट।

क्या राहुल है पीएम मटेरियल ?
स्वरा भास्कर से जब यह पूछा गया कि क्या राहुल गांधी देश में प्रधानमंत्री बनने लायक कैंडिडेट लगते हैं, तो इस पर बेबाकी से बात करते हुए स्वरा भास्कर ने कहा कि मुझे लगने की जरुरत नहीं, भारत की जनता को लगना चाहिए, जो भी हो बेहतर हो और वह देश का प्रधानमंत्री बनने लायक है या नहीं देश की जनता तय करें।

स्वरा ने की शॉपिंग।

स्वरा ने की शॉपिंग।

मैं तो आजाद गृहणी बनूंगीं
स्वरा भास्कर की फिल्म जहां चार यार रिलीज हुई है । जिसमें चार ऐसी ग्रहणियों की कहानी है जो अपने परिवार अपने बच्चों, पति ससुराल की जिम्मेदारियों में किसी आम महिला की तरह फंसी होती हैं। उसके बाद गोवा ट्रिप पर निकलती हैं। इसे लेकर जब स्वरा से पूछा गया कि वाे किस तरह की गृहणी बनेंगी तो उन्होंने कहा- पहले तो कोई मिले शादी करने को, जब मिलेगा उसके बाद सोचूंगी, हालांकि मैं बहुत आजाद ख्याल की लड़की हूं और आजाद ही रहूंगी।

प्रदेश के कारिगरों को निहारती रहीं स्वरा।

प्रदेश के कारिगरों को निहारती रहीं स्वरा।

समाज कानून नहीं मानता
क्या महिलाओं के लिए नए सिरे से कानून या नियम बनने चाहिए, यह पूछे जाने पर स्वरा भास्कर ने कहा कि देश में सभी के लिए समानता का कानून तो पहले से ही है। दहेज जैसे विषय के लिए भी कड़े कानून हैं, मगर दहेज तो बढ़िया से सभी समाजों में चल रहा है । ऐसे मुद्दों पर फिल्म आती है तो जरूर बहस होती है और ऐसी फिल्म जागरूकता का काम करती है।

स्थानीय कलाकारों के आर्ट को स्वरा ने सराहा।

स्थानीय कलाकारों के आर्ट को स्वरा ने सराहा।

जो फ्री बैठे हैं वही कर रहे बॉयकॉट
स्वरा भास्कर ने कहा कि इंटरनेट पर बॉयकॉट करने वाले लोग वहीं है जिन्हें कोई काम धाम नहीं है। फ्री बैठे हुए हैं तो बस यूं ही शोर मचा रहे हैं । उन्हें शोर मचाने देना चाहिए, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। फिल्म ब्रह्मास्त्र का बिजनेस इस बात को साबित कर चुका है।

होती है दिक्कत
स्वरा भास्कर कई मौकों पर देश के सत्ता पक्ष के खिलाफ अपनी बात रखते नजर आती हैं । उनसे पूछे जाने पर इससे जुड़े सवाल पूछे जाने पर स्वरा भास्कर ने बताया कि जब हम सत्ता पक्ष के खिलाफ बोलते हैं तो दिक्कत होती है और मुझे भी यह दिक्कत झेलनी पड़ती है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *