रस्सियां, टेप और ‘भागने’ का पूरा प्लान—गाजियाबाद में कैसे 14 साल की गोद ली बेटी ने पिता को ‘मार डाला’


नई दिल्ली: उन्होंने पहले उसके हाथ-पैर बांधे, उसके मुंह पर टेप लगाया और फिर उसका गला घोंट दिया. इसके बाद उसका क्रेडिट कार्ड लेकर फरार हो गए.

22 सितंबर को 58 वर्षीय व्यक्ति वैशाली स्थित अपने फ्लैट में मृत पाया गया था. मामले में मुख्य संदिग्ध मानी जा रही पीड़िता की 14 वर्षीय गोद ली गई बेटी और उसके कथित 23 वर्षीय प्रेमी को 27 सितंबर को महाराष्ट्र के जलगांव में हिरासत में लिया गया और फिर एक दिन बाद गाजियाबाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया. इस मामले में किशोरी की मां की तरफ से एफआईआर दर्ज कराई गई है.

पुलिस का दावा है कि हत्या की योजना पहले से ही बनाई गई थी. किशोरी ने कथित तौर पर दो दिन पहले रस्सियां और टेप खरीदे, उसने अपने प्रेमी को दिल्ली बुलाया जो मूलरूप से जलगांव का निवासी है और जीवन यापन के लिए अजीबो-गरीब काम-धंधे करता रहता था. लड़की ने यह भी सुनिश्चित किया कि हत्या के समय वह घर पर थी.

पुलिस का कहना है कि अपराध का कारण किशोरी और उसके पिता के बीच बढ़ता तनाव था जो कि मुख्य रूप से उसके कथित संबंधों की वजह से था.

पुलिस ने बताया कि 58 वर्षीय व्यक्ति और उसकी पत्नी ने किशोरी को उस समय गोद लिया था जब वह छोटी बच्ची ही थी. पिता और बेटी के बीच घर पर कथित तौर पर अक्सर लड़ाई होती रहती थी और हत्या से एक दिन पहले भी उनकी लड़ाई हुई थी. पुलिस सूत्रों ने इस संबंध में घर के एक कमरे में लगे व्हाइटबोर्ड का हवाला है जिसमें संदेश लिखा था, ‘मैं आज से इसे कुछ भी नहीं दूंगा.’

अच्छी पत्रकारिता मायने रखती है, संकटकाल में तो और भी अधिक

दिप्रिंट आपके लिए ले कर आता है कहानियां जो आपको पढ़नी चाहिए, वो भी वहां से जहां वे हो रही हैं

हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

अभी सब्सक्राइब करें