यूक्रेन के खिलाफ युद्ध का विरोध करने वाली रूसी पत्रकार नजरबंद



डिजिटल डेस्क, मॉस्को। रूस की पत्रकार मरीना ओव्स्यानिकोवा को यूक्रेन के खिलाफ जारी मॉस्को के आक्रमण की आलोचना करने पर नौ अक्टूबर तक नजरबंद कर दिया गया है। इससे पहले मरीना के आवास पर इस सप्ताह की शुरुआत में छापा मारा गया था। डीपीए न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, रूसी समाचार एजेंसियों ने गुरुवार को मॉस्को की एक अदालत के फैसले की सूचना दी।

यह रूसी सशस्त्र बलों के बारे में गलत जानकारी फैलाने के आरोप में 44 वर्षीय मरीना के खिलाफ एक आपराधिक मामले का हिस्सा है। इंटरफैक्स समाचार एजेंसी के अनुसार, उसे पांच से 10 साल की जेल हो सकती है। बुधवार को सुरक्षा अधिकारियों ने उनके घर पर छापा मारा था, जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

मारिया ओव्स्यानिकोवा ने रूसी सरकारी टेलीविजन के चैनल वन के लिए काम किया हुआ है और उन्हें मार्च में एक समाचार प्रसारण में कैमरे के ऊपर युद्ध-विरोधी बैनर रखने तक क्रेमलिन के प्रति वफादार माना जाता था। बैनर में लिखा था, युद्ध बंद करो। प्रोपेगेंडा पर विश्वास मत करो। आपको यहां झूठ बोला जा रहा है। उन्होंने कई महीने विदेश में जर्मन अखबार डाई वेल्ट के लिए काम करने में भी बिताए हैं।

जुलाई में, उन्होंने फिर से क्रेमलिन के पास युद्ध का विरोध किया था। रूसी कानून के तहत, यूक्रेन पर मॉस्को के युद्ध को केवल एक विशेष सैन्य अभियान के रूप में संदर्भित किया जा सकता है और मार्च में सेना के कार्यों की आलोचना करने के लिए दंड को कठिन बना दिया गया था। मरीना को अब तक केवल जुर्माने के साथ छोटी सजा दी गई थी, मगर अब उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई हो सकती है।

(आईएएनएस)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.