मिशिगन यूनिवर्सिटी का शोध: फेस्टिव सीजन में 20% पैरेंट्स के स्ट्रेस से बच्चों की छुटि्टयों में खलल, मांएं ठीक करती हैं माहौल


  • Hindi News
  • International
  • Research From The University Of Michigan 20% Of Parents’ Stress During The Festive Season Disrupts Children’s Holidays, Mothers Fix The Atmosphere

न्यूयॉर्क2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

शोध में यह पाया गया कि काम का प्रेशर भी पैरेंट्स पर हावी रहता है।

फेस्टिव सीजन यानी पैरेंट्स का बच्चों के साथ क्वालिटी टाइम बिताने का वक्त। इन दिनों ईयर एंड वैकेशंस चल रहे हैं। लोग अपने परिवारों के साथ छुटि्टयों पर हैं, लेकिन लगभग 20 फीसदी पैरेंट्स यानी हर पांच में से एक पैरेंट्स के स्ट्रेस के कारण उनके बच्चों की छुटि्टयों में खलल पड़ता है। बच्चे पूरे साल इन छुटि्टयों का इंतजार करते हैं लेकिन उन्हें मौज मस्ती का टाइम नहीं मिल पाता है।

मिशिगन यूनिवर्सिटी के एक सर्वे में सामने आया कि पैरेंट्स के स्ट्रेस के कारण परिवार पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव को मां ठीक करती है। वो ही बच्चों के साथ बात करके या फिर उनकी पसंद के कपड़े वगैरह की खरीद करती हैं। जिससे कि स्ट्रेस कम हो। पिता अक्सर अपने काम में ही उलझे रहते हैं।

मिशिगन यूनिवर्सिटी के इस शोध का नेतृत्व करने वालीं डॉ. सारा क्लार्क का कहना है कि कई बार पैरेंट्स बच्चों के सामान को खरीदने में अपनी पसंद थोपते हैं। साथ ही छुटि्टयां होने के बावजूद कई पैरेंट्स अपने काम के प्रेशर से निजात नहीं पाते हैं। ऐसे में बच्चे भी चिड़चिड़े हाे जाते हैं। और इसका नतीजा होता है कि परिवार का माहौल खराब हो जाता है। वे छुटि्टयों का मजा नहीं ले पाते।

छुटि्टयों से पहले पैरेंट्स बच्चों के साथ बात करके अच्छी प्लानिंग करें
डॉ. सारा क्लार्क का कहना है कि फेस्टिव सीजन से पहले पैरेंट्स बच्चों के साथ बातचीत करें। ये कई दौर में हो सकती है। कभी मां तो कभी पिता समय निकाल कर बच्चों से बात करें। छुटि्टयों को लेकर बच्चों की क्या इच्छा है उसे जानने की कोशिश करें। फिर मिलजुल कर एक परिवार के रूप में अच्छी प्लानिंग करें। इससे फेस्टिव सीजन के दौरान आने वाली समस्याओं से अच्छी तरह से पहले से ही निपटा जा सकेगा। बच्चों को भी इससे आनंद मिलेगा और पैरेंट्स का भी कोई मलाल नहीं रहेगा।

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *