मार्च 2024 तक सभी टाउन में एयरटेल का 5G: CEO ने दिए पैक महंगे करने के संकेत, इस महीने लॉन्च होगी एयरटेल की 5G सर्विस


  • Hindi News
  • Business
  • CEO Gave Hints To Make The Pack Expensive, Airtel’s 5G Service Will Be Launched This Month

नई दिल्ली15 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

टेलीकॉम ऑपरेटर भारती एयरटेल इस महीने कुछ शहरों में 5G सर्विसेज शुरू कर देगी। मार्च 2024 तक देश के सभी कस्बों और प्रमुख ग्रामीण क्षेत्रों को कवर करेगी। कंपनी के MD और CEO गोपाल विट्टल ने यह इसकी जानकारी दी।

गोपाल विट्टल ने यह भी कहा कि भारत में मोबाइल सर्विसेज की कीमत बहुत कम है और इसे बढ़ाने की जरूरत है। ये सीधा संकेत है कि 4G के पैक की कीमत बढ़ाई जा सकती है और 5G सर्विस के लिए भी यूजर को 4G से ज्यादा पैसे चुकाने होंगे।

विट्टल ने कहा, ‘भारत में 5,000 शहरों 5G को रोलआउट करने प्लान पूरी तरह से तैयार हैं। यह हमारे इतिहास में सबसे बड़े रोलआउट में से एक होगा।’ हाल ही में आयोजित 5G नीलामी में, एयरटेल ने 19,867.8 MHz स्पेक्ट्रम हासिल किया है।

जियो 15 अगस्त को लॉन्च कर सकती है 5G
जियो ने 15 अगस्त से 5G नेटवर्क सर्विस लॉन्च करने के संकेत दिए हैं। कहा जा रहा है कि, 5G सर्विस फिलहाल चुनिंदा मेट्रो शहरों में हो सकती है। जियो को भारत के प्रमुख शहरों में अपनी 5G सेवाओं को पूरी तरह से शुरू करने में एक या दो महीने का समय लगेगा। टियर 2 और टियर 3 शहरों में फेस्ड रोलआउट अगले साल की शुरुआत में हो सकता है।

5 साल में 50 करोड़ से ज्यादा 5G यूजर्स होंगे
5G इंटरनेट सेवा के शुरू होने से भारत में काफी कुछ बदलने वाला है। इससे न सिर्फ लोगों का काम आसान होगा, बल्कि एंटरटेनमेंट और कम्युनिकेशन सेक्टर में भी काफी कुछ बदल जाएगा। 5G में 4G से 100 गुना ज्यादा तेज होने की क्षमता है। वहीं 5G के लिए काम कर रही कंपनी एरिक्सन का मानना है कि 5 साल में भारत में 50 करोड़ से ज्यादा 5G इंटरनेट यूजर की संख्या होने वाली है।

5G शुरू होने से क्या फायदे होंगे?

  • पहला फायदा तो ये होगा कि यूजर तेज स्पीड इंटरनेट इस्तेमाल कर सकेंगे।
  • वीडियो गेमिंग के क्षेत्र में 5G के आने से बड़ा बदलाव होगा।
  • वीडियो बिना बफरिंग या बिना रुके स्ट्रीम कर सकेंगे।
  • इंटरनेट कॉल में आवाज बिना रुके और साफ-साफ आएगी।
  • 2 GB की मूवी 10 से 20 सेकेंड में डाउनलोड हो जाएगी।
  • कृषि क्षेत्र में खेतों की देखरेख में ड्रोन यूज संभव होगा।
  • मेट्रो और बिना ड्राइवर चलने वाली गाड़ियों को ऑपरेट करना आसान होगा।
  • वर्चुअल रियलिटी और फैक्ट्री में रोबोट यूज करना ज्यादा आसान होगा।

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.