महिलाओं में वजाइनल फैट है खतरनाक, प्रेगनेंसी में हो सकती है दिक्क्त, जानें इसे घटाने के तरीके


हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, उम्र बढ़ने के साथ वैजाइनल एरिया में फैट जमा होने लगता है। अगर वैजाइना में फैट जमा हो तो इसके कारण नार्मल डिलीवरी में दिक्कत आती है। एक रिपोर्ट में सामने आया है कि वैजाइनल फैट के कारण 92% महिलाओं को सी-सेक्शन का सहारा लेना पड़ता है।

अक्सर महिलाएं अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखती हैं लेकिन अपने प्राइवेट पार्ट की देखभाल को नजरंदाज कर देती हैं। ज्यादातर महिलाओं में वेजाइनल हेल्थ को लेकर शर्म और झिझक होती है। लेकिन हमें समझना चाहिए कि वेजाइना भी शरीर के अन्य हिस्सों की तरह एक महत्वपूर्ण अंग है। ज्यादातर महिलाऐं शरीर के फैट पर तो ध्यान देती हैं लेकिन उनका ध्यान वैजाइनल फैट पर नहीं जाता है। जबकि, वैजाइना का फैट बढ़ने से प्रेगनेंसी में समस्याएँ पैदा हो सकती हैं।

इसे भी पढ़ें: क्या होती है यूनानी कपिंग थेरेपी? कैसे है माइग्रेन, लकवा समेत कई बीमारियों में प्रभावी

हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, उम्र बढ़ने के साथ वैजाइनल एरिया में फैट जमा होने लगता है। अगर वैजाइना में फैट जमा हो तो इसके कारण नार्मल डिलीवरी में दिक्कत आती है। एक रिपोर्ट में सामने आया है कि वैजाइनल फैट के कारण 92% महिलाओं को सी-सेक्शन का सहारा लेना पड़ता है। डॉक्टर्स के मुताबिक जब वजन अधिक बढ़ जाता है तो इससे बर्थ कैनाल संकरी हो जाती है और इससे डिलीवरी के समय परेशानी हो सकती हैं। इसके कारण बच्चे को वेजाइना से बाहर आने में दिक्क्त होती है और डॉक्टर को सी-सेक्शन करना पड़ता है। ऐसे में बहुत जरुरी है कि अगर आप कंसीव करना चाहती हैं तो अपने वैजाइनल फैट का ध्यान रखें। अगर आपको लगता है कि आपका वेजाइनल फैट ज़्यादा है तो आप एक्सरसाइज या योगासन की मदद से उसे कम कर सकती हैं। रोजाना एक्सरसाइज और योगासन से वेजाइनल एरिया की मांसपेशियाँ टोन होती हैं और मॉन्स प्यूबिस का आकार कम हो जाता है। आज के इस लेख में हम आपको बताएंगे कि आप वैजाइनल फैट को कम करने के लिए कौन सी एक्सरसाइज कर सकती हैं – 

बटरफ्लाई पोज़ 

इस एक्सरसाइज को करने के लिए जमीन पर बैठ जाएं। अपने घुटनों को मोड़ें और अपने पैरों के तलवों को आपस में दबाएं।

अब दोनों हाथों से पैर के तलवों को पकड़ लें।

अपनी रीढ़ को सीधा रखें और अपनी छाती को चौड़ा करें।

अपने कंधों को नीचे और पीछे की तरफ खींचें।

अब तितली की भाँती अपने पैरों को हिलाएं। 

इस स्थिति में 5 मिनट तक रहें। 

इसके बाद वापस से सामान्य मुद्रा में आ जाएं।

इसे भी पढ़ें: निरोगी रहना है तो रोजाना सुबह खाली पेट भिगोकर खाएँ ये 5 चीज़ें

जंपिंग जैक 

इस एक्सरसाइज को करने के लिए अपने पैरों को एक साथ रखकर सीधे खड़े हो जाएं। 

फिर ऊपर उछलते हुए हाथों को ऊपर उठाएं और पैरों को फैलाएं। 

हाथों को नीचे लाने के बाद सामान्य मुद्रा में आ जाएं। इस एक्‍सरसाइज को 2 मिनट तक करें।

– प्रिया मिश्रा

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *