ब्रिटेन में क्वीन के बाद अब किंग, नए राजा के तौर पर प्रिंस चार्ल्स III की हुई ताजपोशी


Prince Charles

creative common

इतिहास में पहली बार टेलीविजन पर प्रसारित परिग्रहण परिषद के एक ऐतिहासिक समारोह में किंग चार्ल्स तृतीय को औपचारिक रूप से ब्रिटेन का नया सम्राट घोषित किया गया।

“God save our gracious king” के उद्घोष के साथ हजारों लोगों की एकट्ठा हुई भीड़ और परिषद के क्लर्क द्वारा की गई घोषणा के बाद ब्रिटेन में अब क्वीन के बाद किंग के राज का आगाज हो गया। एलिजाबेथ द्वितीय ने 70 साल तक देश पर शासन किया। जिनके निधन के  बाद अब उनके उत्तराधिकारी और बड़े बेटे किंग चार्ल्स तृतीय को ब्रिटेन की गद्दी सौंप दी गई। इतिहास में पहली बार टेलीविजन पर प्रसारित परिग्रहण परिषद के एक ऐतिहासिक समारोह में किंग चार्ल्स तृतीय को औपचारिक रूप से ब्रिटेन का नया सम्राट घोषित किया गया।

इसे भी पढ़ें: महारानी के निधन के बाद वकीलों के शाही खिताब समेत ब्रिटेन की कई चीजों में होगा बदलाव

अपनी मां, महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की मृत्यु के बाद 73 वर्षीय पूर्व प्रिंस ऑफ वेल्स को सिंहासन पारित किया गया था और शनिवार के समारोह में लंदन के सेंट जेम्स पैलेस में उनकी औपचारिक घोषणा और शपथ ग्रहण समारोह हुआ। किंग चार्ल्स III ने अपनी पहली प्रिवी काउंसिल की बैठक आयोजित की और “संप्रभुता के कर्तव्यों और जिम्मेदारियों को मानने” और अपनी दिवंगत मां के नक्शेकदम पर चलने की घोषणा की।  उन्होंने राष्ट्र के नाम अपने पहले संबोधन में कहा कि वह महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन से बहुत दुखी हैं और जीवन पर्यंत राष्ट्र की सेवा करने का उनका काम जारी रखेंगे।

इसे भी पढ़ें: महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन पर भारत में होगा एक दिन का राजकीय शोक, MHA ने सभी राज्यों को लिखा पत्र

इससे पहले किंग चार्ल्स ने अपने सबसे बड़े बेटे विलियम और उनकी बहू केट को प्रिंस और प्रिंसेस ऑफ वेल्स की उपाधि से सम्मानित किया था। विलियम चार्ल्स और दिवंगत राजकुमारी डायना के सबसे बड़े बेटे हैं। इस बीच, भारत ने महारानी एलिजाबेथ के निधन पर सम्मान के तौर पर कल एक दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है। 96 वर्षीय सम्राट के निधन के बाद दुनिया भर से शोक व्यक्त किया गया।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.