बच्चों के लिए कितना फायदेमंद है हल्दी वाला दूध और कितना पिलाना है सही, जानें यहां


बच्चों के लिए कितना फायदेमंद है हल्दी वाला दूध और कितना पिलाना है सही, जानें यहां 

Haldi Wala Doodh: हल्दी वाले दूध को माना जाता है औषधीय गुणों से भरपूर.

खास बातें

  • हल्दी को माना जाता है सेहत के लिए फायदेमंद.
  • दूध में भी होते हैं कई पोषक तत्व.
  • हल्दी वाला दूध है दर्द से राहत देने के लिए अच्छा.

Healthy Food: बच्चे हों यो बड़े सभी को हल्दी वाला दूध पीने की सलाह दी जाती है. ऐसा इसलिए क्योंकि हल्दी और दूध दोनों ही अनेक पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं और शरीर को कई फायदे देते हैं. हल्दी जहां औषधीय गुणों से भरपूर होती है वहीं दूध को एक उम्र तक बच्चों की सबसे बड़ी जरूरत के रूप में देखा जाता है. लेकिन, हल्दी वाले दूध (Turmeric Milk) का जरूरत से ज्यादा सेवन सेहत के लिए नुकसानदायक भी साबित हो सकता है, खासकर बच्चों को कुछ भी खिलाने-पिलाने की सीमित मात्रा का ख्याल रखना जरूरी है. इस चलते आइए जानें कि बच्चों की सेहत (Kid’s Health) पर हल्दी वालो दूध पीने के कितने फायदे हैं और इस दूध की कितनी मात्रा उनके पीने के लिए सही है.

यह भी पढ़ें

सुबह उठने का मन तो करता है लेकिन उठा नहीं जाता तो ये 5 टिप्स आएंगे काम, अर्ली बर्ड बन जाएंगे आप

बच्चों के लिए हल्दी वाले दूध के फायदे | Benefits OF Turmeric Milk For Kids

भरते हैं घाव 


हल्दी वाले दूध को दर्द कम करने के लिए अच्छा माना जाता है. इसके साथ ही यह बच्चों के शरीर पर आयदिन लगने वाले घावों को भरता है और दर्द से राहत भी देता है. हल्दी वाला दूध (Haldi Wala Doodh) पिलाने के साथ ही घाव पर हल्दी का लेप भी लगाया जा सकता है.

एलर्जी होती है दूर 

शरीर पर होने वाली छोटी-मोटी एलर्जी आदि को दूर करने में भी हल्दी वाला दूध असरदार होता है. इसमें मौजूद करक्यूमिन सेहत को सभी औषधीय गुण देता है.

सर्दी-जुकाम से छुटकारा 


बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर हल्दी वाले दूध को बच्चे को पिलाने पर मौसमी इंफेक्शन जैसे सर्दी-जुकाम दूर होते हैं. हल्का गर्म पीने पर यह गले के दर्द में भी आराम देता है.

बढ़ती है इम्यूनिटी 


शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) बढ़ाने में भी हल्दी वाले दूध की खास भूमिका होती है. हल्दी में कई एंटी-ऑक्सीडेंट्स, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण पाए जाते हैं, वहीं दूध की बात करें तो यह प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन और मैग्नीशियम का अच्छा स्त्रोत है. यह सभी पोषक तत्व बच्चे को हल्दी वाले दूध से मिलते हैं.

कितनी मात्रा में दें 


बच्चे को देने के लिए हल्दी वाले दूध की सही मात्रा है एक चौथाई कप या थोड़ा बड़ा बच्चा हो तो फिर आधा कप. यह हल्दी वाले दूध की पर्याप्त मात्रा है जो बच्चे को कुछ-कुछ दिनों के अंतराल पर दी जा सकती है जो उसकी सेहत पर विपरीत प्रभाव नहीं डालती.

इस वजह से लगता है कि हाथ-पैरों में काट रही हैं चीटियां, जानिए किस विटामिन की कमी से होती है झुनझुनी 

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

गोविंदा अपनी पत्नी सुनीता आहूजा के साथ एयरपोर्ट पर हुए स्पॉट



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.