बच्चे के कम वजन को लेकर घबराना कितना सही? जानिए


हाइलाइट्स

मेडिकल इश्यू की वजहों से भी बच्चों का वजन कम रह जाता है
बच्चे की ग्रोथ के लिए ज्यादा कैलोरी की जरूरत होती है

Your Child Is Not Gaining Weight-जन्म के बाद बच्चे की देखरेख से लेकर उसके खान पान की जिम्मेदारी उसके माता पिता की होती है. बच्चे का अच्छा पालन पोषण हो, उसकी डाइट अच्छी रहे, बच्चा हेल्दी रहे, इन सारी बातों का ख़ास ख्याल रखना बेहद जरूरी है. क्योंकि अगर आपने इन बातों का ध्यान रख लिया तो समझिये उसे बीमारियों का खतरा भी कम रहेगा. बच्चे की अच्छी शारीरिक ग्रोथ के लिए उसकी डाइट का बड़ा रोल होता है. आपने काफी बच्चों का वजन समय से पहले कम होता हुआ देखा होगा, या काफी कोशिश के बाद भी उनका वजन नहीं बढ़ते हुए देखा होगा. ऐसा कई कारणों की वजह से हो सकता है. अगर आपके बच्चे के साथ भी कुछ ऐसा ही है तो जानिए कि इस बात को लेकर घबराना कितना सही है.

क्या है वजन न बढ़ने का कारण
काटेफार्म्स डॉट कॉम के मुताबिक बच्चे की ग्रोथ के लिए ज्यादा कैलोरी की जरूरत होती है. लेकिन कैलोरी की कमी से वजन कम होना एक मात्र कारण नहीं हो सकता.
-दूषित पर्यावरण और मेडिकल इश्यू की वजहों से भी बच्चों का वजन कम रह जाता है.
-पैरेंट्स अगर आर्थिक रूप से कमजोर हैं, तो बच्चे का पालन पोषण सही ढंग से नहीं कर पाते.
-अगर आपका बच्चा दो साल से कम है और अधिक फाइबर युक्त खाना खाता है तो इस वजह से भी बच्चे का वजन नहीं बढ़ पाता.
-बच्चों को सही ढंग से पोषक तत्व ना खिलाने की वजह से बच्चों का वजन कम रह जाता है.


कब है घबराने की जरूरत
-अगर लगातार वजन गिर रहा है और जरूरत से ज्यादा कम हो चुका है, इस स्थिति में चिंता बढ़ सकती है.
-अगर बच्चों का वजन डब्लूएचओ के विकास मानकों से कम हो.
-बच्चों की लम्बाई से करीब 20 % तक आर्दश वजन कम हो, तो चिंता का विषय है.
-अगर बच्चा, चलने, बैठने या खड़े होने के विकास में धीमा है तो वजन पर इसका असर पड़ सकता है. जो अच्छी बात नहीं है.
-पोषण की कमी से बच्चे अगर चिडचिडाने लगे तो, ये चिंता का विषय हो सकता है.
बच्चों का वजन कम होना आम है. लेकिन जरूरत से ज्यादा वजन कम होना चिंतनीय विषय है. आपको घबराने की जगह इस विषय पर डॉक्टर से चर्चा करनी चाहिए.

ये भी पढ़ें: Parenting Tips: छोटे बच्चों को सुलाते समय इन बातों का रखें ख्याल

ये भी पढ़ें: स्कूल जाने से घबराता है बच्चा तो कहीं इसकी वजह बुलिंग तो नहीं? यहां जानें

Tags: Health, Lifestyle, Parenting tips



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.