फेक न्यूज एक्सपोज: नितिन गडकरी ने कहा- मेरा मंत्री पद गया, तो चिंता नहीं? जानिए इस वायरल वीडियो की पूरी सच्चाई



10 दिन पहले

क्या हो रहा है वायरल : BJP ने 17 अगस्त को अपने संसदीय बोर्ड का पुनर्गठन किया। इसमें से मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को बाहर किया गया। अब सोशल मीडिया पर नितिन गडकरी का एक वीडियो वायरल हो रहा है।

इसमें गडकरी को यह कहते हुए सुना जा सकता है- संभव हो तो मेरे पीछे खड़े रहो, नहीं तो फर्क नहीं पड़ता। मेरा पद गया तो गया। मैं राजनीतिक पेशेवर नहीं हूं, जो होगा देखा जाएगा। मैं बहुत ही सामान्य व्यक्ति हूं।

आप सांसद ने शेयर किया वीडियो

आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने वीडियो शेयर कर लिखा- आखिर ऐसा क्यों बोले नितिन गडकरी जी? BJP में बहुत बड़ी गड़बड़ चल रही है।

रिटायर विंग कमांडर अनुमा आचार्य ने वीडियो शेयर कर लिखा- BJP ने एक दो सामान्य सहज जनों को भी बाहर का रास्ता दिखा ही दिया।

और सच क्या है?

  • वायरल वीडियो का सच जानने के लिए हमने इससे जुड़े की-वर्ड्स सर्च किए। सर्च रिजल्ट में हमें इसका पूरा वीडियो नितिन गडकरी के यूट्यूब चैनल पर मिला।

  • चैनल के मुताबिक नितिन गडकरी का ये वीडियो एक किताब के विमोचन कार्यक्रम का है। ये वीडियो यूट्यूब चैनल पर 23 अगस्त को लाइव अपलोड हुआ था।
  • इस वीडियो में 7 मिनट 24 सेकेंड पर गडकरी ने कहा- मुझे एक बहुत अच्छा अनुभव हुआ, जब मैं महाराष्ट्र में मंत्री था। तब अमरावती जिले के मेलघाट तहसील में ढाई हजार बच्चे कुपोषण से मर गए। ये 1996-97 की बात है।
  • तब मुख्यमंत्री मनोहर जोशी मुझे कहते थे कि यह कैसी स्थिति है। मेलघाट में 450 गांव हैं, लेकिन एक भी गांव में सड़क नहीं है। तब मैं लोक निर्माण विभाग का मंत्री था। मनोहर जोशी गांव में सड़क ना होने को लेकर परेशान थे।
  • मैंने इस काम की जिम्मेदारी ली। मैंने कहा कि मैं इस काम में माहिर हूं, यह काम मेरे ऊपर छोड़ दो। मुझे कोई चिंता नहीं कि क्या परिणाम होते हैं, मैं यह काम करूंगा। संभव हो तो मेरे पीछे खड़े रहो, नहीं तो फर्क नहीं पड़ता। मेरा पद गया तो गया, चिंता नहीं।
  • वीडियो में आगे नितिन गडकरी ने बताया कि उन्होंने 450 गांव में सड़क बनाने के लिए फाइल पास करने का आदेश दिया था। उन्होंने फाइल पर लिखा था कि एक्ट के आधार पर अगर इसकी कोई जिम्मेदारी है, तो मंत्री न होने के बाद भी इसकी व्यक्तिगत जिम्मेदारी मेरी होगी।
  • यह लिखने पर हमारे सेक्रेटरी ने कहा कि साहब आपने यह क्यों लिखा। इसके जवाब में गडकरी ने कहा- कोई फर्क नहीं पड़ता, मैं राजनीतिक पेशेवर नहीं हूं, जो होगा देखा जाएगा।
  • पड़ताल के दौरान हमें नितिन गडकरी के सोशल मीडिया अकाउंट ऑफिस ऑफ नितिन गडकरी पर एक पोस्ट भी मिली।

  • इस पोस्ट में वायरल वीडियो क्लिप का पूरा वीडियो मौजूद है। वहीं, वायरल वीडियो का खंडन करते हुए इसमें लिखा है- कुछ मीडिया संस्थानों और व्यक्तियों द्वारा चलाए जा रहे झूठे अभियान की सच्चाई।
  • साफ है कि सोशल मीडिया पर केंद्रिय मंत्री नितिन गडकरी की दो अलग-अलग बातों को जोड़कर गलत दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.