फीचर आर्टिकल: एयरटेल भारत में 5G क्रांति का नेतृत्व करने के लिए तैयार


नई दिल्लीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
  • एयरटेल ने 20 वर्षों के लिए नीलामी के माध्यम से 43,084 करोड़ रुपए में 1800 MHz, 2100MHz, 3300 MHz और 26 GHz फ्रीक्वैंसी बैंड में 19867.8 MHz स्पैक्ट्रम हासिल किए हैं।
  • यह सर्वोत्तम 5G अनुभव प्राप्त करने और 100 गुना क्षमता विस्तार के लिए एक आदर्श स्पैक्ट्रम बैंक है, यह सब रणनीतिक रूप से कम से कम लागत पर किया गया है।

भारत की प्रमुख टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर भारती एयरटेल (एयरटेल) ने घोषणा की है कि वह भारत की 5G क्रांति का नेतृत्व करने के लिए तैयार है। टेलीकॉम कंपनी ने कहा कि उसने पूरे भारत में 3.5 GHz और 26 GHz बैंड्स में 19,800 MHz स्पैक्ट्रम हासिल कर लिए हैं। इसके अलावा, कंपनी, चुनिंदा मिड-बैंड स्पैक्ट्रम को भी मजबूत करने में सक्षम थी। इस विशाल स्पैक्ट्रम बैंक को कंपनी ने हाल ही में टेलीकॉम विभाग, भारत सरकार द्वारा आयोजित स्पैक्ट्रम की नीलामी में कुल 43,084 करोड़ रुपए में हासिल किया।

एयरटेल ने इस नीलामी में 20 वर्षों के लिए 5G स्पैक्ट्रम हासिल किए हैं। स्पैक्ट्रम की इस विशाल मात्रा को हासिल करने का अर्थ है कि कंपनी के पास पहले से ही माैजूद इंडस्ट्री के सर्वोत्तम स्पैक्ट्रम पूल में और इजाफा होगा और कंपनी को आने वाले कई वर्षों तक स्पैक्ट्रम पर कोई रकम खर्च करने की आवश्यकता नहीं होगी। इसके अलावा, इस स्पैक्ट्रम अधिग्रहण से एयरटेल स्पैक्ट्रम उपयोग शुल्क (SUC) में काफी कमी लाने और बाजार में नए आने वालों की तुलना में खुद को बेहतर स्थिति में स्थापित करने में सक्षम हुई है।

एयरटेल के पास विशाल मोबाइल ब्रॉडबैंड फुटप्रिंट
एयरटेल के पास अब अब पूरे देश में सबसे विशाल मोबाइल ब्रॉडबैंड फुटप्रिंट है, जिसकी वजह से यह देश में 5G क्रांति की शुरुआत करने के लिए मजबूत स्थिति में है। बीते वर्षों में, एयरटेल ने इंडस्ट्री का नेतृत्व किया है और विभिन्न भागीदारों के साथ देश के विभिन्न साथनों पर उपयोग संबंधी परीक्षण करके 5G टेक्नोलॉजी में अग्रणी रही है।

चाहे वह हैदराबाद में लाइव 4G नेटवर्क पर भारत का पहला 5G अनुभव प्रदान करना हो या फिर भारत का पहला ग्रामीण 5G ट्रायल हो या फिर 5G पर पहला क्लाउड गेमिंग अनुभव हो या ट्रायल स्पैक्ट्रम पर देश का पहला कैप्टिव प्राइवेट नेटवर्क स्थापित करना हो, एयरटेल ने अगली पीढ़ी की टेक्नोलॉजी को तेजी से अपनाने में सहयोग करके भागीदारों और स्टार्ट-अप्स का एक जीवंत इकोसिस्टम तैयार किया है और उसे आगे बढ़ाया है।

लो और मिड बैंड स्पैक्ट्रम का बड़ा पूल जमा किया
इतने वर्षों से, एयरटेल अपनी प्रतिस्पर्धी स्पैक्ट्रम अधिग्रहण के नजरिए से काफी चतुर खिलाड़ी रही है। इसने बड़ी ही कुशलता के साथ लो और मिड बैंड स्पैक्ट्रम (Sub ghz/1800/2100/2300 बैंड) का सबसे बड़ा पूल जमा किया है, जिसका इस्तेमाल सर्वोत्तम 5G कवरेज प्रदान करने के लिए किया जा सकता है जबकि 3.5 GHz और 26 GHz बैंड्स से एयरटेल को न्यूनतम लागत में 100 गुना क्षमता निर्माण में मदद मिलेगी।

नीलामी, विलय और अधिग्रहण के अलावा ट्रेडिंग के माध्यम से स्पैक्ट्रम हासिल करने की इस सोची-समझी रणनीति ने एयरटेल को महंगे सब गीगाहर्ट्ज बैंड जोड़ने की आवश्यकता से बचाया है। इससे एयरटेल अपने उद्देश्यों को पूरा करने में सक्षम हुई है–सर्वोत्तम 5G अनुभव, 100 गुना क्षमता विस्तार और सबसे ऊर्जा-कुशल समाधान जो कि देश के महत्वाकांक्षी ESG लक्ष्यों को पूरा करने की दिशा में अग्रसर होते हैं। और भी महत्वपूर्ण रूप से, इससे एयरटेल स्पैक्ट्रम स्वामित्व की न्यूनतम लागत के साथ आने वाले कई वर्षों तक प्रतिस्पर्धा में लाभ की स्थिति में रहेगी।

एयरटेल अब प्रमुख शहरों से शुुरुआत करते हुए देश के हर हिस्से में 5G सेवाएं लॉन्च करने की योजना बना रही है। कंपनी को पूरा विश्वास है कि उसका उच्च-गुणवत्ता वाला ग्राहक वर्ग देश में तेजी के साथ 5G डिवाइस अपनाएगा। इसके अलावा एंटरप्राइज सेगमेंट में एयरटेल की मजबूत उपस्थिति B2B मार्केट में एयरटेल की लीडरशिप को और मजबूती प्रदान करेगी।

एयरटेल को क्षमता बढ़ाने में मदद मिलेगी
भारती एयरटेल के MD एवं CEO गोपाल विटट्ल ने इस मौके पर कहा, “एयरटेल 5G नीलामी के परिणामों से प्रसन्न है। इस ताजा नीलामी में हासिल हुए स्पैक्ट्रम, अपने प्रतिस्पर्धियों की तुलना में काफी कम लागत पर सर्वोत्तम स्पैक्ट्रम खरीदने की हमारी एक सोची-समझी रणनीति का परिणाम हैं। इससे हमें नवाचार करने और प्रत्येक ग्राहक की सर्वोत्तम अनुभव प्राप्त करने की बढ़ती आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए अपनी क्षमता बढ़ाने में मदद मिलेगी।

हमें पूरा विश्वास है कि कवरेजड, स्पीड जैसे मामलों में भारत में सबसे शानदार 5G अनुभव प्रदान करने में सफल होंगे। इससे हमें हमारे B2C और B2B ग्राहकों के लिए स्थापित प्रतिमानों में भी बदलाव करने में मदद मिलेगी। 5G टेक्नोलॉजी एक ऐसी क्रांति है जो भारत के मैन्युफैक्चरिंग, सर्विस और कई अन्य सेक्टर्स में आमूल-चूल परिवर्तन कर सकती है। हम भारत सरकार के डिजिटल इंडिया विजन के प्रति पूरी तरह समर्पित हैं और टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में भारत को दुनिया का अग्रणी देश बनाने के लिए अपना सर्वोत्तम प्रयास करना जारी रखेंगे।”

एयरटेल के बारे में:
भारत में हेडक्वार्टर वाली एयरटेल एक वैश्विक संचार समाधान प्रदाता कंपनी है जिसके दक्षिण एशिया और अफ्रीका के 17 देशों में 49 करोड़ से भी अधिक उपभोक्ता हैं। कंपनी दुनिया भर के शीर्ष 3 मोबाइल ऑपरेटर्स में शुमार होती है और इसके नेटवर्क 2 अरब से भी ज्यादा लोगों को कवर करते हैं। एयरटेल भारत की सबसे बड़ी इंटीग्रेटेड कम्युनिकेशन सॉल्यूशन प्रोवाइढर है और अफ्रीका की दूसरी सबसे बड़ी मोबाइल ऑपरेटर है।

एयरटेल के रिटेल पोर्टफोलियो में हाई-स्पीड 4G/4.5G मोबाइल ब्रॉडबैंड के साथ एयरटेल एक्सट्रीम फाइबर शामिल है जो लीनियर और ऑन डिमांड मनोरंजन, स्ट्रीमिंग सेवाएं, संगूत और वीडियो, डिजिटल भुगतान और वित्तीय सेवाओं के लिए 1Gbps की स्पीड देने का वादा करती है। एंटरप्राइज ग्राहकों के लिए, एयरटेल समाधानों की एक विस्तृत श्रंखला पेश करती है जिसमें सुरक्षित कनेक्टिविटी, क्लाउड और डेटा सेंटर सेवाएं, साइबर सुरक्षा, IoT एड टेक और क्लाउड-आधारित संचार शामिल है। अधिक जानकारी के लिए आप www.airtel.com पर विजिट कर सकते हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.