पुरुषों के लिए पिता बनने की क्या है सही उम्र? इसके बाद कम हो जाता है पापा बनने का चांस


कई रिसर्च में यह पता चला है कि पुरुषों के लिए भी पिता बनने की एक सही उम्र होती है। जिस तरह महिलाओं की उम्र बढ़ने के साथ उनकी फर्टिलिटी घटती है, वैसे ही पुरुषों में भी उम्र बढ़ने के साथ स्पर्म की क्वालिटी कम होने लगती है।

शादी के बाद हर कपल का सपना होता है कि वह अपना परिवार पूरा कर सकें। माना जाता है कि मां बनने के लिए महिलाओं के लिए एक सही उम्र होती है। जबकि पुरुषों के मामले में ऐसी कोई उम्र निर्धारित नहीं की है। लेकिन आपको बता दें कि यह नियम सिर्फ महिलाओं के लिए नहीं बल्कि पुरुषों के लिए भी होता है। कई रिसर्च में यह पता चला है कि पुरुषों के लिए भी पिता बनने की एक सही उम्र होती है। जिस तरह महिलाओं की उम्र बढ़ने के साथ उनकी फर्टिलिटी घटती है, वैसे ही पुरुषों में भी उम्र बढ़ने के साथ स्पर्म की क्वालिटी कम होने लगती है।

पुरुषों के लिए पिता बनने की सही उम्र 

हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, पुरुषों के लिए 20 से लेकर 30 साल तक की उम्र पिता बनने के लिए सही मानी जाती है। हालांकि, पुरुष चाहे 18 साल के हों या 80 साल के, वे किसी भी उम्र में बच्चे पैदा कर सकते हैं। हालांकि 40 या उससे ज्यादा की उम्र में पुरुषों के पिता बनने की संभावनाएं कम होने लगती हैं। दरअसल 30 की उम्र के बाद टेस्टोस्टरॉन का लेवल कम होने लगता है। इससे पुरुषों के स्पर्म काउंट और क्वालिटी पर असर पड़ता है।

इसे भी पढ़ें: सुबह खाली पेट लहसुन का करेंगे सेवन तो शरीर में देखने को मिलेंगे यह बदलाव

बढ़ती उम्र में घटने लगती है फर्टिलिटी 

विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा तय किए गए सीमन से संबंधित मानदंड के अनुसार, 35 साल की उम्र के बाद स्पर्म काउंट, शेप और मूवमेंट खराब होने लगते हैं। हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक, 22 से लेकर 25 साल की उम्र के बीच पुरुषों की फर्टिलिटी सबसे ज्यादा होती है। ऐसे में उन्हें 35 साल की उम्र से पहले बच्चे पैदा करने की सलाह दी जाती है। क्योंकि इस उम्र के बाद पुरुषों की फर्टिलिटी घटनी शुरू हो जाती है।

इसे भी पढ़ें: रात में देर से सोते हैं तो हो जाएं सावधान! नींद पूरी ना होने से हो सकती हैं डायबिटीज-डिप्रेशन जैसी बीमारियां

35 की उम्र के बाद क्या होता है?

एक्सपर्ट्स के मुताबिक, 35 साल की उम्र के बाद भी पुरुष अपनी फीमेल पार्टनर को प्रेगनेंट कर सकते हैं। लेकिन ज्यादा उम्र में स्पर्म की क्वालिटी खराब हो जाती है। इससे शिशु को जेनेटिक विकार या जन्म के समय समस्या आ सकती है।

– प्रिया मिश्रा

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.