‘पीठ में छुरा घोंपा’ : ऑस्ट्रेलिया के सबमरीन डील रद्द करने से भड़का फ्रांस, US से मोल ले रहा टकराव


विश्व मंच पर अकेला पड़ता दिख रहा फ्रांस (फाइल फोटो)

पेरिस:

ऑस्ट्रेलिया द्वारा फ्रांस के साथ मेगा पनडुब्बी सौदे को अचानक रद्द किए जाने के बाद फ्रांस और अमेरिका के बीच तकरार बढ़ती हुई नजर आ रही है. पनडुब्बी डील रद्द होने से खफा फ्रांस, अमेरिका से टकराने का जोखिम भरा दांव लगा रहा है. हालांकि, इस मोर्चे पर बाकी देश फ्रांस के बचाव में नहीं खड़े दिख रहे हैं. फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों आने वाले दिनों में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन से इस मुद्दे पर बातचीत की भी तैयारी कर रहे हैं. 

ऑस्ट्रेलिया ने पारंपरिक डीजल-इलेक्ट्रिक सबमरीन्स के लिए 2016 में फ्रांस के साथ अरबों डॉलर का अनुबंध किया था, लेकिन अब ऑस्ट्रेलिया ने अमेरिका और ब्रिटेन के साथ परमाणु ऊर्जा चालित पनडुब्बियों के लिए समझौता किया है. इस समझौते के कारण उसने फ्रांस के साथ अनुबंध रद्द कर दिया है. जिसके बाद फ्रांस ने असाधाकरण कदम उठाते हुए वाशिंगटन और ऑस्ट्रेलिया से अपने राजदूतों को वापस बुला लिया था.  

ऑस्ट्रेलिया ने कहा कि यह फैसला इसलिए किया गया क्योंकि अपनी समुद्री ताकत को बढ़ाने के लिए उसे न्यूक्लियर सबमरीन ज्यादा अच्छा विकल्प लगा. ऑस्ट्रेलिया ने चीन के मद्देनजर अमेरिका और ब्रिटेन के साथ नए त्रिपक्षीय गठबंधन का ऐलान किया है. 

अमेरिका और फ्रांस के बीच पैदा हुए राजनीतिक संकट के बीच फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों आने वाले दिनों में अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन से बातचीत करेंगे. 

इस बीच, फ्रांस के विदेश मंत्री जीन यवेस ली द्रियान ने ऐसी भाषा का इस्तेमाल किया है जो मित्र देशों के बीच शायद ही कभी इस्तेमाल होती हो. उन्होंने “झूठ बोलने” और “दोहरी चाल” चलने का आरोप लगाते कहा कि ऑस्ट्रेलिया ने फ्रांस की “पीठ में छुरा घोंपा” गया है. 

न्यूयॉर्क में इस सप्ताह संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक के इतर अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन के साथ उनकी अब तक कोई बैठक निर्धारित नहीं है. 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *