पिघलते ग्लेशियर, बढ़ते महासागर… फिर भी ग्लोबल वॉर्मिंग को दुनिया के लिए सबसे बड़ा खतरा नहीं मानते एलन मस्क, तो सबसे खतरनाक क्या?


वॉशिंगटन : दुनिया के सबसे अमीर शख्स एलन मस्क ट्विटर पर काफी एक्टिव रहते हैं। स्पेस से लेकर टेक्नोलॉजी पर वह अपने विचार साझा करते रहते हैं। हाल ही में उन्होंने एक चेतावनी दी है जिसके लिए अक्सर वह सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करते हैं। मस्क ने ‘इंसानी समाज के पतन’ के संभावित कारण का अनुमान लगाया है। उन्होंने कहा कि ग्लोबल वॉर्मिंग मानवता के लिए सबसे बड़ा खतरा है लेकिन एक अन्य चीज और भी ज्यादा खतरनाक है। यह पहली बार नहीं है जब मस्क ने इंसानों के पतन को लेकर चेतावनी दी है।

टेस्ला और स्पेसएक्स के सीईओ ने कहा, ‘कम जन्म दर के चलते जनसंख्या का पतन मानवता के लिए ग्लोबल वॉर्मिंग की तुलना में बहुत बड़ा जोखिम है।’ उन्होंने कहा, ‘मेरी बात पर गौर करें।’ इस ट्वीट ने कई यूजर्स का ध्यान अपनी ओर खींचा। कुछ ने उन्हें ‘पागल’ करार दिया तो कुछ ने इस थ्योरी को समझाने के लिए कहा। 10 बच्चों के पिता एलन मस्क पहले भी जनसंख्या संकट और घटती जन्म दर को दुनिया के लिए सबसे बड़ा खतरा करार दे चुके हैं।

Elon Musk Girlfriend : मैंने अरसे से सेक्स भी नहीं किया… गूगल को-फाउंडर की पत्नी के साथ अफेयर पर एलन मस्क ने ये क्या बोल दिया
यूजर ने लिखा- वह सिर्फ बकवास करते हैं
एक यूजर ने मस्क से पूछा, ‘क्या बच्चे पैदा करना एकमात्र समाधान है? मुझे लगता है कि इस मुद्दे पर शिक्षा की जरूरत है।’ यूजर को जवाब देते हुए मस्क ने लिखा, ‘हां’। एक दूसरे यूजर ने लिखा, ‘वह सिर्फ बकवास करते हैं।’ एक यूजर ने लिखा, ‘एलन, आप इस पर पूरी तरह गलत हैं।’ हालांकि कुछ लोगों ने अमेरिकी बिजनसमैन के अनुमान पर सहमति जताई। दक्षिण कोरिया सहित दुनिया के कुछ हिस्सों में, जन्म दर तेजी से घट रही है।

चीन में जनसंख्या बढ़ने की रफ्तार सुस्त
दुनिया की आबादी के एक-छठे हिस्से से भी ज्यादा चीन में बसती है जो घटती जन्म दर की समस्या से जूझ रहा है। चार दशकों तक तो देश की आबादी तेजी से बढ़ती रही और 660 मिलियन से बढ़कर 1.4 बिलियन हो गई। लेकिन पिछले साल इसके बढ़ने की रफ्तार में पहली बार सबसे बड़ी गिरावट दर्ज की गई। चीन के नेशनल ब्यूरो ऑफ स्टेटिक्स के हालिया आंकड़ों के अनुसार, 2021 में चीन की जनसंख्या 1.41212 बिलियन से बढ़कर सिर्फ 1.41260 हुई। 480,000 की यह बढ़ोत्तरी अब तक की सबसे कम है। माना जा रहा है कि सख्त कोविड प्रतिबंधों ने लोगों में बच्चे पैदा करने की अनिच्छा को जन्म दिया जो घटती जन्मदर का कारण बना।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.