धरती पर ये है एलियंस की पसंदीदा जगह, अब तक डेढ़ लाख यूएफओ की हो चुकी है लैंडिंग!


एलियंस के होने या ना होने को लेकर आज से बहस नहीं चल रही है. ये मुद्दा काफी पुराना है. कुछ लोगों का कहना है कि जैसे पृथ्वी पर इंसान रहते हैं,वैसे ही दुनिया में कोई ऐसा ग्रह होगा, जहां एलियंस रहते हैं. इन एलियंस को पृथ्वी पर आकर इंसानों का अध्ययन करने के लिए भी जाना जाता है. हालांकि, अभी तक ये साफ नहीं हो पाया है कि वाकई एलियंस होते भी हैं, या ये सिर्फ इंसान के मन का वहम और इमेजिनेशन है. अगर ये एलियंस होते हैं, तो ये पृथ्वी के किस हिस्से में रहते हैं?

अगर एलियंस की थियोरी को सच माना जाए, तो अब एक्सपर्ट्स ने पृथ्वी पर उनकी पसंदीदा जगह का खुलासा किया है. यानी वो जगह जहां एलियंस सबसे ज्यादा उतरते हैं. इस जगह का फैसला उनके सबसे ज्यादा किसी जगह पर दिखने के दावे के आधार पर किया गया है. ये जगह है अमेरिका का वॉशिंगटन. इस जगह पर अभी तक करीब डेढ़ लाख से अधिक बार यूएफओ देखे जाने का दावा किया गया है. ये आंकड़ा 1974 से दर्ज दावों के आधार पर है. ये आंकड़ा नेशनल यूएफओ रिपोर्टिंग सेंटर के रजिस्टर में दर्ज है.

अमेरिका है हॉटस्पॉट
लॉकडाउन की शुरुआत में कई अमेरिकी रिटायर्ड ऑफिसर्स सामने आए थे. उन्होंने दावा किया था कि अमेरिकी सरकार को एलियंस के बारे में काफी कुछ पता है. लेकिन वो दुनिया से जानकारी छिपा रही है. क्यों? इसका पता अभी तक नहीं चल पाया है. अमेरिका में भी खासकर वॉशिंगटन में हर एक लाख नागरिक में से 88 ने एलियंस देखने का दावा किया है. अभी तक के दर्ज रिकार्ड्स में यहां बीते कुछ सालों में डेढ़ लाख से ज्यादा यूएफओ उतर चुके हैं. इस आधार पर एक्सपर्ट्स ने इस जगह को एलियंस का पसंदीदा बताया है.

जुलाई में बढ़ती है हलचल
आंकड़ों को जब डिटेल्स में खंगाला गया, तो ये पाया गया कि एलियंस की हलचल जुलाई के महीने में बढ़ जाती है. नेशनल यूएफओ रिपोर्टिंग सेंटर को अमेरिकी पुलिस, मिलिट्री, अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा, एयर ट्रैफिक कंट्रोलर्स, फ़ेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन और वेदर फोरकास्टर्स द्वारा रिकॉगनाइज किया गया है. देश में दिखे एलियंस और यूएफओ के दावों को इस एजेंसी द्वारा ही रजिस्टर किया जाता है. इसी में दर्ज आंकड़ों के आधार पर ये नतीजा निकला कि सालभर में जुलाई के महीने में एलियंस दिखने के मामलों में काफी बढ़त हो जाती है. इसमें भी सबसे ज्यादा मामले वॉशिंगटन में दर्ज होते हैं.

Tags: Ajab Gajab, Khabre jara hatke, OMG, Weird news



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.