दिल्ली शराब घोटाले में अब ‘बाहुबली’ की एंट्री, BJP ने सिसोदिया और केजरीवाल से चुटकी ली


नई दिल्ली: दिल्ली शराब घोटाले मामले में बीजेपी लगातार आम आदमी पार्टी पर हमलावर है। दिल्ली बीजेपी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनके पूर्व डिप्टी मनीष सिसोदिया का मजाक उड़ाने के लिए ब्लॉकबस्टर फिल्म बाहुबली की एक छोटी सी क्लिप का इस्तेमाल किया है। पार्टी इकाई ने बुधवार को ट्विटर पर इस क्लिप को साझा किया और इसके कैप्शन में लिखा, शराब घोटाले के मास्टरमाइंड केजरीवाल की यह फिल्म जरूर देखें।

करीब एक मिनट की इस वीडियो क्लिप में सिसोदिया का चेहरा एक शराबखाने में शराब परोस रहे एक शख्स के चेहरे पर लगाया गया है। इसके बाद एक शख्स जिसके चेहरे पर केजरीवाल का फेस लगा हुआ होता है, वह सराय में जाता है और शराब मांगता है। जब शराब दी जाती है तो वह शख्स बड़ा पैग मांगता है। जैसे ही सिसोदिया पैसे मांगते हैं, वह शख्स यह कहते हुए सोने के सिक्कों का ढेर फेंकते हुए दिखाई देता है उसके पास पूरे सराय के लिए शराब खरीदने के लिए पैसा है। यह सिसोदिया को दिल्ली आबकारी पुलिस मामले में सीबीआई की ओर से गिरफ्तार किए जाने के कुछ दिनों बाद आया है। उन्होंने मंगलवार को मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया।

‘केजरीवाल इस्तीफा कब देंगे’

बीजेपी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को शराब घोटाले का सरगना बताते हुए सवाल पूछा कि उनके दो मंत्रियों ने तो इस्तीफा दे दिया लेकिन केजरीवाल स्वयं कब इस्तीफा देंगे? इसके साथ ही बीजेपी ने मनीष सिसोदिया के इस्तीफे पर तारीख नहीं लिखे होने को भी संविधान के साथ खिलवाड़ करार दिया। राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया ने अरविंद केजरीवाल के पीए की ओर से 4 मोबाइल को नष्ट कर सबूत मिटाने का प्रयास करने का आरोप लगाते हुए सवाल उठाया कि क्या इस घोटाले के तार केजरीवाल से तो जाकर नहीं जुड़ रहे हैं?

भाटिया ने आगे कहा कि अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में 2021 में हुई दिल्ली कैबिनेट की बैठक में एक जीओएम के गठन का फैसला किया गया। इससे साबित होता है कि आबकारी घोटाले के मुख्य सरगना अरविंद केजरीवाल स्वयं हैं। उन्होंने अरविंद केजरीवाल और उनके एक अन्य मंत्री कैलाश गहलोत के इस्तीफे की मांग करते हुए कहा कि जीओएम में शामिल तीन मंत्रियों में से दो मंत्री मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन इस्तीफा दे चुके हैं, तीसरे मंत्री कैलाश गहलोत कब इस्तीफा देंगे और जिसने घोटाला करवाया, जिसके निर्देश पर घोटाला हुआ और जिसने घोटाले की रचना की, वे अरविंद केजरीवाल स्वयं इस्तीफा कब देंगे?

‘सिर्फ प्यादों से इस्तीफा दिलाने से काम नहीं चलेगा’

भाटिया ने अरविंद केजरीवाल की ओर से तुरंत इस्तीफा देने की मांग को दोहराते हुए कहा कि सिर्फ प्यादों से इस्तीफा दिलाने से काम नहीं चलेगा। केजरीवाल एक संवैधानिक पद पर बैठे हैं और जांच एजेंसियों के निष्पक्ष जांच को सुनिश्चित करने के लिए उन्हें भी मुख्यमंत्री पद से तुरंत इस्तीफा दे देना चाहिए। बीजेपी प्रवक्ता ने सिसोदिया के इस्तीफे पर तारीख नहीं लिखे होने का सवाल उठाते हुए पूछा कि सिसोदिया ने इस्तीफे का जो पत्र भेजा है, उस पर तारीख क्यों नहीं लिखी गई है? क्या अरविंद केजरीवाल एक बार फिर से संविधान के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं?



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *