दिल्ली के पॉल्यूशन में फेफड़े को छलनी होने से बचाने के लिए इन ट्रिक्स को करें फॉलो


Delhi Pollution: दिल्ली एनसीआर में पॉल्यूशन (Pollution in Delhi-NCR) से लोगों का हाल बेहाल है. स्मॉग की वजह से लोगों की आंखों में जलन और सांस लेने में परेशानी हो रही है. दिल्ली-एनसीआर में एयर क्वालिटी इंडेक्स खतरनाक लेवल पर पहुंच चुका है. जिसे देखते हुए नोएडा, दिल्ली, गाजियाबाद के सभी स्कूलों को 8 नवंबर तक बंद कर दिया गया है. इस प्रदूषण से बचने के लिए दिल्ली सरकार काफी कुछ कर रही है. लेकिन आप भी घर में कुछ खास तरीके अपनाकर इस पॉल्यूशन से होने वाली गंभीर बीमारी से बच सकते हैं.  आज हम आपको बताएंगे ऐसे कुछ ट्रिक्स जिसकी मदद से कोई भी गंदगी आपके शरीर में जमा नहीं हो पाएगी.

दिल्ली-एनसीआर में Smog से छलनी हुए फेफड़े

स्मॉग क्या है? पहली बार स्मॉग शब्द का इस्तेमाल 90 के दशक में किया गया था. जिसका मतलब प्रदूषण.  स्मॉग व पॉल्यूशन होता है. पॉल्यूशन से सबसे ज्यादा नुकसान (Air Pollution Side Effects) शरीर के ऑर्गन्स को पहुंचाता है.  यह पॉल्यूशन सांस के जरिए शरीर के अंदर चली जाती है. जिसके कारण सांस लेने में दिक्कत, गले में दर्द, लंग्स कैंसर, हार्ट डिजीज, रेस्पिरेटरी इंफेक्शन जैसी खतरनाक बीमारियां हो सकती हैं.

पॉल्यूशन में फेफड़ों को कैसे रखें साफ

जब हमारे फेफड़ों या रेस्पिरेटरी सिस्टम में पॉल्यूशन की वजह से गंदगी पहुंच जाती है. तो इसे रोकने के लिए सबसे पहले आप कुछ ट्रिक्स का इस्तेमाल करें. इसका नेचुरल तरीका है आप जोर- जोर खांसने लगे. इससे जो भी गंदगी है निकलने लगेगा.

स्टीम लेकर लंग्स साफ रखें

डॉक्टर अक्सर कहते हैं कोल्ड कफ में स्टीम लेना तो जरूरी है ही. इस वक्त दिल्ली में रहने वाले लोगों के लिए रोजाना स्टीम लेना बेहद जरूरी है. अभी जो दिल्ली की स्थिती है उसमें यह कह सकते हैं कि स्मॉग से जो भी गंदगी आपके लंग्स में चली जाएगी वह आप स्टीम के जरिए निकाल सकते हैं. इससे लंग्स इंफेक्शन का खतरा नहीं रहेगा. लगातार स्टीम लेने से रेस्पिरेटरी सिस्टम में किसी भी तरह का कफ और गंदगी जमने का खतरा नहीं रहता है.

रोजाना खाली पेट खाएं गुड़
पॉल्यूशन के किसी भी तरह के साइड इफेक्ट्स से बचने के लिए रोजाना गुड़ खाएं. गुड़ खाने से शरीर की जितनी भी गंदगी होती है वह निकल जाती है. इसलिए सुबह एक गिलास गुनगुने पानी के साथ गुड़ जरूर खाएं.

ये भी पढ़ें: Heart Attack In Early Age: इन कारणों के चलते 35 से कम उम्र में हो सकता है हार्ट अटैक, रहें सावधान और रखें ध्यान

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *