डेढ़ साल पहले कुएं से जिस युवक का मिला था शव, पुलिस ने उसे माशूका के साथ UP से बरामद किया


रोहतास. बिहार से एक अजीबोगरीब खबर सामने आई है. डेढ़ साल पहले 28 अक्टूबर 2021 को जिस युवक की हत्या की प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी. उस युवक को पुलिस ने एक लड़की के साथ गिरफ्तार किया है. बड़ी बात यह है कि उस वक्त पुलिस ने युवक के शव को भी बरामद किया था तथा परिजनों को सौंप दिया था और परिजनों ने भी शव की पहचान करते हुए उसका दाह संस्कार और विधिवत श्राद्ध भी किया. ऐसे में सवाल उठता है कि जो डेड बॉडी पुलिस को मिली थी, वो किसकी थी.

मामला रोहतास जिला से जुड़ा है. भानस ओपी के मंझौली में कुए से मिली थी. अब डेढ़ साल के बाद रवि रंजन को उसी के गांव की एक लड़की संध्या कुमारी के साथ उत्तर प्रदेश के वाराणसी के पास मुगलसराय से बरामद किया गया. बता दें कि वर्ष 2021 में अक्टूबर महीना में कोचस के रहने वाले बसंत राम का पुत्र रवि रंजन अपने ही गांव की अपनी प्रेमिका संध्या को लेकर प्रेम प्रसंग में फरार हो गया था. जिसके बाद संध्या के पिता राधेश्याम चौहान ने कोचस थाना में अपने पुत्री का अपहरण का प्राथमिकी दर्ज कराया था. जिसमें रवि रंजन को मुख्य आरोपी बनाया गया था, लेकिन उसके एक सप्ताह के अंदर ही दिनारा के भानस ओपी क्षेत्र में एक लाश मिली थी, जिसके बाद लड़के रवि रंजन के परिवार ने उसे अपने पुत्र का लाश बताते हुए उसकी पहचान की तथा पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम भी कराया एवं परिजनों ने उसका दाह संस्कार भी किया.

डेढ़ साल के बाद वही रवि रंजन को पुलिस ने उसकी प्रेमिका के साथ उत्तर प्रदेश में पकड़ लिया. इस सनसनीखेज खुलासा के बाद इलाके में चर्चा का बाजार गर्म हो गया. पुलिस ने लड़की संध्या का सासाराम के सदर अस्पताल में मेडिकल जांच कराया है. वही रवि रंजन को पुलिस अभिरक्षा में रखा गया है. लड़का रवि रंजन के पिता-भाई सहित सात लोगों पर हत्या का केस भी दर्ज करा दिया गया था. जिसके बाद पूरा परिवार भागा भागा फिर रहा था. हालांकि उस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई थी लेकिन अनुसंधान के क्रम में पुलिस को पता चला कि लड़का-लड़की कुशल पूर्वक महाराष्ट्र के पुणे में रह रहे है तथा लड़का रवि रंजन अपने परिवार के संपर्क में भी हैं.

इसी सूचना पर पुलिस ने अग्रसर कार्रवाई करते हुए एक पुराने मामले का उद्भेदन कर दिया और जिस युवक की अक्टूबर 2021 में हत्या की प्राथमिकी दर्ज हुई थी उस युवक को पुलिस ने बरामद कर लिया. लड़की के चाचा ने बताया कि जब उसकी भतीजी का अपहरण हुआ, तो उसने कोचस थाने में केस दर्ज कराया  था. कुछ दिन के बाद भानस ओपी क्षेत्र के मझौली में एक कुएं में से मिले शव को रवि रंजन का बताते हुए उन लोगों पर ही हत्या का मुकदमा दर्ज करा दिया गया था. उस लड़के के सकुशल बरामदगी के बाद लड़की के परिजनों ने राहत की सांस ली है. वही लड़का रवि रंजन का परिवार कुछ भी स्पष्ट बोलने की स्थिति में नहीं है. अब सवाल उठता है कि जिस शव को रवि रंजन का बताते हुए पुलिस ने पोस्टमार्टम कर दिया आखिर वह सब किसका था.

Tags: Bihar News



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *