डिलीवरी के बाद हर औरत को इतने दिन होती है ब्‍लीडिंग, इन्‍हें पीरियड्स समझने की ना करें गलती


कैसा होता है लोचिया

कैसा होता है लोचिया

हर औरत में लोचिया का रंग और मात्रा अलग होती है। यह रक्त के रूप में शुरू होता है और धीरे-धीरे सफेद म्‍यूकस में बदल जाता है।
लोचिया कम से कम तीन या चार दिनों तक गहरे या चमकीले लाल रंग का रहता है। पहले हैवी ब्‍लीडिंग होती है छोटे थक्के भी निकल सकते हैं। हर दो से तीन घंटे में एक मोटा पैड बदलने की जरूरत पड़ सकती है।
फोटो साभार : pexels

कब खत्‍म होता है लोचिया

कब खत्‍म होता है लोचिया

लगभग एक सप्ताह के बाद, लोचिया अधिक पानीदार हो जाता है और गुलाबी भूरे रंग में परिवर्तित हो जाता है। प्रवाह हल्का होता है इसलिए पैड जल्‍दी बदलने की जरूरत नहीं पड़ती है। लगभग 10 से 14 दिनों के बाद, लोचिया पीले-सफेद रंग में बदल जाता है। इस समय, कुछ महिलाएं अपने अंडरवियर में पतली पैंटी लाइनर पहन सकते हैं।

कब तक रहता है लोचिया

कब तक रहता है लोचिया

पोस्‍टपार्टम ब्‍लीडिंग होने पर आपको सैनिटरी पैड पहनना चाहिए और टैम्पोन लगाने से बचना चाहिए। डॉक्‍टर सलाह देते हैं कि जन्म देने के बाद कम से कम छह सप्ताह तक योनि में कुछ नहीं जाना चाहिए। कुछ महिलाओं में लोचिया कुछ हफ्ते तक रह सकता है, और अन्य के लिए एक महीने या उससे अधिक समय तक रह सकता है। आम तौर पर, प्रसवोत्तर रक्तस्राव लगभग चार से छह सप्ताह के बाद बंद हो जाता है। कई बार महिलाओं को 4 सप्‍ताह तक ब्‍लीडिंग हो सकती है। यह हर महिला के लिए अलग है।

पीरियड्स से अलग होता है लोचिया

पीरियड्स से अलग होता है लोचिया

मासिक धर्म के रक्त और लोचिया के बीच कुछ समानताएं हैं। इन दोनों में एक अलग गंध होती है और यह गहरे लाल, भारी स्राव के रूप में शुरू होता है। लोचिया और मासिक धर्म का रक्त एक समान होता है जिसमें रक्तस्राव धीरे-धीरे कम हो जाता है।
दोनों प्रकार के डिस्चार्ज के बीच सबसे बड़ा अंतर यह है कि लोचिया बहुत लंबे समय तक रहता है। इसकी सामान्य अवधि लगभग एक सप्ताह तक चलती है। अधिकांश लोगों में लोचिया लगभग छह सप्ताह तक रहता है।
फोटो साभार : pexels

औरतों को क्‍या करना चाहिए

औरतों को क्‍या करना चाहिए

clevelandclinic.org के अनुसार प्रसव के बाद पहले छह सप्ताह तक केवल सैनिटरी मैक्सी पैड का उपयोग करें। कम से कम एक सप्ताह तक प्रतिदिन कई बड़े, मोटे पैडों का उपयोग करें। टैम्पोन का उपयोग न करें या अपनी योनि में कुछ भी न डालें। इससे आपके गर्भाशय में बैक्टीरिया आ सकते हैं और संक्रमण हो सकता है।

फोटो साभार : freepik

Reference :
​https://my.clevelandclinic.org/health/symptoms/22485-lochia#:~:text=What%20is%20lochia%3F,flow%20until%20it%20goes%20away.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *