जल्द दूर होगी खांसी की समस्या, खान-पान से जुड़ी इन बातों का रखें ध्यान


Types of Cough: खांसी इतने तरह की होती है कि आम इंसान के लिए इनके नाम और कारण समझना बिल्कुल आसान नहीं है. जब आयुर्वेदिक डॉक्टर ने हमें खांसी के प्रकार बताने शुरू किए तो हमने उनसे निवेदन किया कि आप हमें उस आसान भाषा में बताइए कि हम भी समझ पाएं और हमारे पाठकों को भी बात पूरी तरह समझ में आए ताकि वे दैनिक जीवन में किसी भी कारण से होने वाली खांसी की समस्या को अपने स्तर पर ठीक कर सकें. बाकि जब स्थिति हाथ से बाहर होती है तो सभी के लिए जरूरी होता है कि डॉक्टर की सहायता ली जाए. तो आइए आपको बताते हैं कि आमतौर पर खांसी कितने प्रकार की होती है, किन कारणों से होती है और इस दौरान किन बातों का ध्यान रखना चाहिए…

खांसी के प्रकार
आयुर्वेद के अनुसार खांसी कई प्रकार की होती है और इनके प्रकार के आधार पर ही इनका उपचार होता है. लेकिन जैसे ही आयुर्वेदाचार्य डॉक्टर सुरेंद्र सिंह राजपूत ने हमें खांसी के 6 प्रकार गिनाए, उनके आगे बढ़ने से पहले ही हमने उनसे रुकने का अनुरोध किया. उन्होंने हमें बताया कि सतही तौर पर बात करें तो खांसी दो प्रकार की होती है. पहली सूखी खांसी जिसमें खांसी का धसका उठता है और दूसरी गीली खांसी, जिसके साथ बलगम (म्यूकस) भी आता है.

सूखी खांसी में क्या करना चाहिए और क्या नहीं?

खांसी किसी भी प्रकार की हो, उसमें क्या करना चाहिए और क्या नहीं यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपको खांसी हुई किस मौसम में है. मौसम के अनुसार ही खांसी का उपचार और खान-पान का ध्यान रखा जाता है. कुछ आसान उपाय जिन्हें कोई भी समझदार व्यक्ति अपनी खांसी को ठीक करने के लिए कर सकता है, वे इस प्रकार हैं…

सूखी खांसी में क्या करें और क्या ना करें

  • अगर सूखी खांसी गर्मी में आ रही है तो ठंडी और मीठी चीज खाएं. जैसे, खीर, दही-चीनी. मावे से बनी कोई मिठाई. ताजा पनीर इत्यादि. ध्यान रखें कि यहां ठंडी का अर्थ फ्रिज में रखी हुई चीजों से नहीं है बल्कि उन चीजों से है, जो गुणों में ठंडी होती हैं और शरीर को शीतलता और स्निग्धता (Calmness and Moisture) प्रदान करती हैं.
  • गर्मी में सूखी खांसी आने के दौरान आप गुड़ का सेवन कर सकते हैं. हालांकि गुड़ तासीर में गर्म होता है लेकिन ये सूखी खांसी में आराम देता है और कफ निस्तारक यानी कफ को बाहर निकालने वाला और इसके कारणों को शांत करने वाला होता है.

क्या नहीं खाना है: बर्फ ना खाएं, फ्रिज में रखा हुआ ठंडा पानी ना पिएं.

सर्दी में सूखी खांसी होने पर क्या खाएं?

जब सर्दी में आपको सूखी खांसी का धसका उठ रहा हो तो आप गर्म और मीठी चीजों का सेवन करें. जैसे, गाजर का हलवा, गर्मा-गर्म गुलाब जामुन, गर्म दूध और गुड़, गर्म जलेबी और दूध इत्यादि. यदि आपको मधुमेह यानी डायबिटीज (Diabetes) की समस्या है तो बेहतर रहेगा कि आप खुद से कोई उपाय ना करें और अपने डॉक्टर से मिलें.

सूखी खांसी का रामबाण इलाज क्या है?

सूखी खांसी किसी भी मौसम में आ रही हो इसका सदाबहार रामबाण उपचार है सितोपलादि चूर्ण. यह चूर्ण मलाई में मिलाकर चाटी जाती है और बहुत जल्दी अपना प्रभाव दिखाती है.

कफ वाली खांसी होने पर क्या करें?

खांसी के साथ कफ आ रहा हो तो इस बात से कोई मतलब नहीं है कि यह खांसी आपको किस मौसम में हुए है. इसमें एक ही प्रकार के उपचार करने होते हैं और डेली हैबिट्स से जुड़ी कुछ बातों का ध्यान रखना होता है. जैसे, कफ वाली खांसी होने पर काली मिर्च का चूर्ण, अदरक का पेस्ट या सौंठ का पाउडर, इन्हें शहद में मिलाकर चाटें.

खांसी में क्या ना करें?
खांसी कोई भी और किसी भी मौसम में हो, कुछ चीजों से बचाव जरूरी है. जैसे, एसी की सीधी हवा से बचें.

सर्दी से बचाव करें
ठंडी चीजों का सेवन ना करें. ठंडी यानी फ्रिज में रखी हुई चीजें किसी भी मौसम में किसी भी तरह की खांसी के दौरान नहीं खानी चाहिए. खांसी से जुड़ी अन्य आवश्यक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें और रोचक तथ्य जानें.

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों को केवल सुझाव के रूप में लें, एबीपी न्यूज़ इनकी पुष्टि नहीं करता है. इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें. 

यह भी पढ़ें:

खजूर खाते समय आप तो नहीं करते ये गलती? ज्यादातर लोग हैं इस गलतफहमी का शिकार

सोकर उठने के तुरंत बाद करते हैं ये काम तो सेहत के लिए नहीं है अच्छा

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.