चुनाव आयोग के इस नोटिस पर इमरान खान करेंगे प्रदर्शन, भड़के पूर्व गृहमंत्री ने दी यह चेतावनी


Imran Khan to Protest Against ECP: पाकिस्तान (Pakistan) के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) मौजूदा सरकार से जमकर लोहा ले रहे हैं और प्रदर्शन कर रहे हैं. अब पाकिस्तान के पूर्व गृह मंत्री शेख रशीद (Sheikh Rasheed) ने शहबाज शरीफ (Shehbaz Sharif) सरकार को चेतावनी दी है कि अगर प्रदर्शनकारियों को बलपूर्वक रोका जाता है तो राष्ट्रवादी लोग इस्लामाबाद (Islamabad) की घेराबंदी कर देंगे और गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे. इमरान खान ने इस्लामाबाद में इलेक्शन कमीशन ऑफ पाकिस्तान (ECP) के दफ्तर के बाहर विरोध प्रदर्शन करने का एलान किया है. इसी के बाद शेख रशीद का यह बयान आया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, इमरान खान की तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी (PTI) लाहौर और पेशावर में भी निर्वाचन आयोग के दफ्तरों के बाहर प्रदर्शन के लिए एलान कर चुकी है.

पाकिस्तान के चुनाव आयोग ने एक फैसले में कहा है कि इमरान खान की तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी को प्रतिबंधित स्रोतो से धन प्राप्त हुआ है. चुनाव आयोग के इसी फैसले को लेकर इमरान खान और उनकी पार्टी भड़की हुई है. रशीद ने यह भी धमकी दी कि अगर इमरान खान को जेल हुई तो सत्ताधारी सरकार के खिलाफ व्यापक विरोध होगा. रशीद शेख ने ये बयान एक समाचार चैनल पर लाइव ब्रॉडकास्ट के दौरान दिए.पूर्व गृह मंत्री रशीद शेख ने कहा कि इमरान खान को धमकियां मिल रही हैं लेकिन वह बिना डरे हुए पूरे देश में स्वतंत्र रूप से घूम रहे हैं जबकि मौजूदा सरकार के नुमाइंदे जन आक्रोश के कारण अपने निर्वाचन क्षेत्रों में भी नहीं जा पाए हैं. शेख ने इमरान खान की लोकप्रियता में इजाफे का दावा किया.

यह भी पढ़ें- हैलीकॉप्टर क्रैश में मारे गए पाकिस्तानी कोर कमांडर की जगह लेफ्टिनेंट जनरल आसिफ गफूर की नियुक्ति, इस वजह से रहे थे चर्चा में 

क्या है विदेशी चंदे का मामला?

वहीं, पाकिस्तान के मौजूदा गृह मंत्री राणा सनाउल्लाह ने तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी प्रमुख इमरान खान विरोध प्रदर्शन के नाम पर अराजकता पैदा करने का आरोप लगाया है. बता दें कि पीटीआई के संस्थापक सदस्य अकबर एस बाबर ने पार्टी को मिलने वाले चंदे में गड़बड़ियों का आरोप लगाया था और मामला 14 नवंबर 2014 से चुनाव आयोग में लटका था. पाकिस्तान के चुनाव आयोग ने एक फैसले में कहा कि विदेशों से मिला चंदा इमरान खान ने पार्टी के लिए इस्तेमाल किया और 2018 के चुनाव से पहले इसकी गलत घोषणाएं कीं. चुनाव आयोग ने इमरान खान को कारण बताओ नोटिस जारी किया है. इमरान खान ने अमेरिका, संयुक्त अरब अमीरात, ऑस्ट्रेलिया और ब्रिटेन जैसे देशों से विदेशी चंदा लिया था.

यह भी पढ़ें- Pakistan: लाहौर में 1200 साल पुराने वाल्मीकि मंदिर का किया जाएगा जीर्णोद्धार, दो दशक बाद हिंदुओं को मिला कब्जा



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.