गोपालगंज में लड़की पर चाकू से हमला कर रहे लड़के का वीडियो झूठे ‘लव-जिहाद’ ऐंगल से शेयर


बीच सड़क पर एक लड़की पर चाकू से हमला कर रहे लड़के का वीडियो काफ़ी शेयर किया जा रहा है. ये एक CCTV फुटेज है. दावा किया जा रहा है कि असरफ अली नाम के लड़के ने 8वीं कक्षा में पढ़ रही लड़की पर छेड़खानी का विरोध करने के कारण चाकू से हमला कर दिया. ये वीडियो ‘#लव_जिहाद’ के साथ शेयर किया जा रहा है.

ट्विटर हैन्डल ‘@VishalRuhelaIND’ ने ये वीडियो ट्वीट करते हुए यही दावा किया. आर्टिकल लिखे जाने तक इस वीडियो को 2 हज़ार बार देखा जा चुका है. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)

कई ट्विटर यूज़र्स ने ये वीडियो ट्वीट किया.

This slideshow requires JavaScript.

फ़ेसबुक पर भी ये वीडियो इसी दावे के साथ काफ़ी शेयर किया गया है.


फ़ैक्ट-चेक

इस घटना की सच्चाई का पता लगाने के लिए ऑल्ट न्यूज़ ने गूगल पर की-वर्ड्स सर्च किया. हमें कई मीडिया रिपोर्ट्स मिलीं जिसमें इस घटना के बारे में बताया गया है. 22 दिसंबर को आज तक ने रिपोर्ट किया कि बिहार के गोपालगंज में एक लड़के ने 8 वीं कक्षा की लड़की पर चाकू से हमला किया. ये घटना माझागढ़ थाना क्षेत्र के प्रतापपुर गांव की है.


मामला कुछ इस प्रकार है कि ये लड़का पीड़िता को छेड़ता था. इससे तंग आकर लड़की के घरवालों ने लड़के के परिजनों से शिकायत भी की. लेकिन लड़के ने छात्रा को परेशान करना जारी रखा. इसी बीच एक दिन लड़की अपनी सहेलियों के साथ स्कूल से घर लौट रही थी. वहीं लड़का इस लड़की का इंतज़ार करते हुए खड़ा था. लड़की को आते देख उसने चाकू से हमला कर दिया. ये देख लड़की की 2 सहेलियां वहां से भाग गई. रिपोर्ट के अनुसार, आसपास के लोग लड़की की चीख सुनकर वहां पहुंचे. इसके बाद, स्थानीय लोगों ने लड़की को अस्पताल में भर्ती कराया गया.

टीवी9 हिन्दी ने रिपोर्ट किया कि आरोपी प्रतापपुर गांव निवासी असरफ अली का बेटा गुड्डन है. गौर करें कि वायरल मेसेज में आरोपी लड़के का नाम असरफ अली बताया गया है. लेकिन असलियत में आरोपी असरफ अली का बेटा है.

इस मामले की सच्चाई जानने के लिए ऑल्ट न्यूज़ ने माझागढ़ थाना अध्यक्ष से संपर्क किया. उन्होंने कहा कि इस घटना में कोई हिन्दू-मुस्लिम ऐंगल नहीं है. लड़का और लड़की, दोनों मुस्लिम समुदाय से हैं. इस घटना के बाद लड़का वहां से फरार हो गया था. लेकिन उसे पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया है.

कुल मिलाकार, गोपालगंज में एक लड़की पर बीच सड़क में हमला कर रहे लड़के का वीडियो झूठे सांप्रदायिक ऐंगल के साथ शेयर किया गया.इस घटना को ‘लव-जिहाद’ का मामला बताया गया. लेकिन जैसा कि हमने देखा लड़का और लड़की, दोनों एक ही धर्म से हैं.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.